Farm bills passed in Parliament : जेपी नड्डा ने दी किसानों की बधाई, सोनिया और राहुल पर साधा निशाना

Farm bills passed in Parliament : संसद के दोनों सदनों से किसानों से जुड़े बिलों के पारित होने पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) के अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने सभी सांसदों और किसानों को शुभकामनाएं दी है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) का अभिनंदन करते हुए कांग्रेस पार्टी (Congress Party) पर भी जोरदार प्रहार किया है।

Avatar Written by: September 20, 2020 6:10 pm
JP Nadda And Congress

नई दिल्ली। संसद के दोनों सदनों से किसानों से जुड़े बिलों के पारित होने पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) के अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने सभी सांसदों और किसानों को शुभकामनाएं दी है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) का अभिनंदन करते हुए कांग्रेस पार्टी (Congress Party) पर भी जोरदार प्रहार किया है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और कांग्रेस कभी किसानों को सशक्त होते नहीं देख सकते। जेपी नड्डा ने कहा, संसद से पारित उपज व्यापार एवं वाणिज्य, कृषक कीमत आश्वासन एवं कृषि सेवा पर करार और आवश्यक वस्तु (संशोधन) विधेयक सही मायनों में किसानों को अपने फसल के भंडारण और बिक्री की आजादी देंगे और बिचौलियों के चंगुल से उन्हें मुक्त करेंगे।

JP_Nadda

जेपी नड्डा ने किसान बिलों पर फैलाए जा रहे भ्रम पर सफाई देते हुए कहा कि एमएसपी अर्थात मिनिमम सपोर्ट प्राइस था, है और रहेगा। एपीएमसी की व्यवस्था भी बनी रहेगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दूरदर्शिता का परिचय देते हुए किसानों के बेहतर भविष्य के लिए ये कदम उठाए हैं जो किसानों की आय को दोगुना करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।

JP Nadda tweet

उन्होंने कहा कि अब किसान अपनी मर्जी का मालिक होगा। किसानों को उपज बेचने का विकल्प देकर उन्हें सशक्त बनाया गया है। बिक्री लाभदायक मूल्यों पर करने से संबंधित चयन की सुविधा का भी लाभ किसान ले सकेंगे। इससे जुड़ी किसी भी समस्या का समाधान किसान के घर पर ही उपलब्ध होगा। यह मोदी सरकार है जिसने स्वामीनाथन कमिटी की रिपोर्ट को लागू किया, किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि दी, फसल बीमा की सौगात दी और कृषिगत सुधार के लिए एक लाख करोड़ रुपये का अलग से आवंटन किया।

JP Nadda tweet

भाजपा अध्यक्ष ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा, कांग्रेस ने लोक सभा चुनाव 2019 के अपने घोषणापत्र में एपीएमसी व्यवस्था को खत्म करने की बात की थी जबकि इन विधेयकों के अनुसार MSP और APMC चलती रहेगी। मोदी सरकार तो किसानों को बेहतर विकल्प उपलब्ध करा रही है। आखिर राहुल गांधी और कांग्रेस किसानों को सशक्त होते देखना क्यों नहीं चाहते। कांग्रेस ने किसानों के सशक्तिकरण के लिए कभी कोई रिफॉर्म्स नहीं किया। उसके पास न इसके लिए सोच थी, न ही इच्छाशक्ति। किसानों और गरीबों को गुमराह कर राजनीति करने की कांग्रेस की पुरानी आदत रही है। कांग्रेस के दोहरे चरित्र से किसान वाकिफ हैं, वे अब उसके बहकावे में आने वाले नहीं हैं।