बुलंदशहर : करोड़ों की स्कॉलरशिप पाने वाली छात्रा के साथ छेड़छाड़, सड़क हादसे में मौत

गौतमबुद्ध नगर के दादरी तहसील की रहने वाली सुदीक्षा बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखती हैं। सुदीक्षा के पिता ढाबा चलाते हैं। सुदीक्षा ने बेसिक शिक्षा विभाग के परिषदीय स्कूल से कक्षा पांच तक पढ़ाई की।

Avatar Written by: August 11, 2020 9:41 am

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में यूएस में पढ़ने वाली एक छात्रा की मौत हो गई है। छात्रा का नाम सुदीक्षा भाटी बताया जा रहा है। स्कॉलरशिप पर अमेरिका में पढ़ाई करने वाली ये छात्रा अपने चाचा के साथ अपने मामा के घर जा रही थी कि तभी उसका पीछा कुछ मनचलों ने किया। इसी के दौरान सुदीक्षा की स्कूटी बुलेट से टकरा गई और मौके पर ही उसकी मौत हो गई।

Sudiksha Bhati

बता दें कि गौतमबुद्ध नगर के दादरी की रहने वाली सुदीक्षा भाटी एक होनहार छात्रा थीं। वो स्कॉलरशिप पर अमेरिका के बॉब्सन में पढ़ाई कर रही थीं। हाल ही में वो छुट्टियों में घर आई हुई थीं। जब ये हादसा हुआ तब सुदीक्षा अपने चाचा के साथ बाइक पर मामा के घर औरंगाबाद जा रही थीं। सुदीक्षा भाटी के परिजनों का आरोप है कि जब बाइक से वह औरांगबाद जा रहे थे, तब उनकी बाइक का बुलेट सवार दो युवकों ने पीछा किया। कभी युवक अपनी बुलेट को आगे निकालते तो कभी छात्रा पर कमेंट पास करते। इतना ही नहीं, ये सिरफिर चलते-चलते स्टंट भी कर रहे थे।

Sudiksha Bhati pic

इसी दौरान अचानक बुलेट सवार युवकों ने अपनी बाइक का ब्रेक लगा दिया और बुलेट की टक्कर सुदीक्षा की बाइक से हो गई। बाइक गिर गई और सुदीक्षा घायल हो गईं। सुदीक्षा ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। सुदीक्षा को 20 अगस्त को अमेरिका वापस जाना था। इससे पहले ही सड़क हादसे में उनकी जान चली गई। बता दें कि देश की टॉप आई टी कंपनी की तरफ से अमेरिका पढ़ने के लिए 3.80 करोड़ रुपये की स्कॉलरशिप दी गई है।

Sudiksha Bhati US

गौतमबुद्ध नगर के दादरी तहसील की रहने वाली सुदीक्षा बेहद गरीब परिवार से ताल्लुक रखती हैं। सुदीक्षा के पिता ढाबा चलाते हैं। सुदीक्षा ने बेसिक शिक्षा विभाग के परिषदीय स्कूल से कक्षा पांच तक पढ़ाई की। प्रवेश परीक्षा के जरिये सुदीक्षा का एडमिशन एचसीएल के मालिक शिव नदार के सिकंदराबाद स्थित स्कूल में हुआ था। सुदीक्षा ने कक्षा 12 में बुलंदशहर टॉप किया और इसके बाद उच्च शिक्षा के लिए उनका चयन अमेरिका के एक कॉलेज में हुआ। पढ़ाई के लिए सुदीक्षा को एचसीएल की तरफ से 3.80 करोड़ रुपये की स्कॉलरशिप भी दी गयी थी।