पशु प्रेमियों के कड़े विरोध के बीच तमिलनाडु में शुरू हुआ सांडों की लड़ाई का खतरनाक खेल, मैदान में 700 सांड़ और 730 लोग

पशु प्रेमियों के कड़े विरोध के बीच तमिलनाडु में जल्लीकट्टू का खेल फिर शुरू हो गया है। इस साल जल्लीकट्टू के बेहद खतरनाक खेल में 700 सांड़ और 730 सांड़ पकड़ने वाले हिस्सास ले रहे हैं। इस

Written by: January 15, 2020 3:12 pm

नई दिल्ली। पशु प्रेमियों के कड़े विरोध के बीच तमिलनाडु में जल्लीकट्टू का खेल फिर शुरू हो गया है। इस साल जल्लीकट्टू के बेहद खतरनाक खेल में 700 सांड़ और 730 सांड़ पकड़ने वाले हिस्‍सा ले रहे हैं। इस दौरान अगर कोई घायल होता है तो उसे अस्‍पताल ले जाने के लिए 21 ऐंबुलेंस तैनात की गई है। खेल के दौरान 75 लोगों पर 60 सांड़ एक के बाद एक छोड़े जाएंगे।

तमिलनाडु में पोंगल के दौरान खेले जाने वाले जल्लीकट्टू को मद्रास हाईकोर्ट ने एक सेवानिवृत्त जिला न्यायाधीश की अध्यक्षता में निगरानी समिति बनाकर आयोजित करने का आदेश दिया था।

जल्लीकट्टू का पशुप्रेमी द्वारा काफी विरोध किया जाता है। सुप्रीम कोर्ट ने इसे एक याचिका पर साल 2014 में प्रतिबंध लगा दिया था। इस फैसले का काफी विरोध हुआ था। बाद में सरकार ने एक अध्यादेश पास करके इसके आयोजन को अनुमति दे दी थी।

जल्लीकट्टू के खेल की निगरानी के लिए मद्रास हाई कोर्ट की मदुरई बेंच ने रिटायर प्रधान जिला जज सी मनिकम को नियुक्‍त किया है। मनिकम ने आज मदुरई में जल्लीकट्टू खेल स्‍थल और व्‍यवस्‍थाओं का जायजा लिया। मनिकम ने कहा कि हमने खिलाड़‍ियों को 75-75 के ग्रुप में बांटा है और उनके लिए एक के बाद एक 60 सांड़ छोड़े जाएंगे।