हवाई यात्रा के दौरान अब खाना परोसने को मिली मंजूरी, लेकिन मास्क ना पहनने पर होगा ये नियम

DGCA के महानिदेशक अरुण कुमार ने कहा कि अगर कोई यात्री उड़ान के दौरान मास्क(Mask) नहीं पहनेगा तो उसे भविष्य में यात्रा करने से रोक दिया जाएगा।

Avatar Written by: August 28, 2020 1:13 pm
Flights

नई दिल्ली। हवाई यात्रा करने वालों के लिए अब थोड़ी राहत की खबर सामने आई है। बता दें कि अब प्लाइट्स में गर्म खाना और पेय पदार्थ दिए जा सकेंगे। सरकारी आदेश के मुताबिक अब घरेलू उड़ानों (Domestic Flights Meals) में यात्रियों को प्री-पैक्ड स्नैक्स, मील और बेवरेजेस मिल सकेगा। घरेलू उड़ानों के अलावा अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में हॉट मील भी मिल सकेगा।

Flights seva pic

 

इन सुविधाओं के अलावा सरकार की तरफ से कोरोनावायरस को रोकने के लिए कुछ जरूरी सख्त नियम भी बनाए गए हैं। DGCA के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अगर कोई यात्री सफर के दौरान मास्क पहनने से इंकार करता है तो उसका नाम एयरलाइन द्वारा नो-फ्लाई लिस्ट में भी डाला जा सकता है। हालांकि, खाने-पीने समेत दूसरे कारणों से यात्री मास्क हटा सकेंगे। यह कार्रवाई सिर्फ उन्ही हवाई यात्रियों पर होगी, जो जानबूझकर मास्क पहनने से इनकार करेंगे।

flights seats

DGCA के महानिदेशक अरुण कुमार ने कहा कि अगर कोई यात्री उड़ान के दौरान मास्क नहीं पहनेगा तो उसे भविष्य में यात्रा करने से रोक दिया जाएगा। यह रोक कितने समय तक जारी रहेगी, यह चालक दल की रिपोर्ट के आधार पर तय होगा।

वहीं खाने को लेकर जारी किए गए निर्देश के मुताबिक सरकार ने घरेलू उड़ानों में यात्रियों को पैक किए हुए स्नैक्स, खाना और पेय पदार्थ परोसने की इजाजत दे दी है। इसी तरह अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में एयरलाइन्स यात्रियों को गरम खाना परोस सकेंगी। इस संबंध में गुरुवार को आदेश जारी किए गए थे।

मंत्रालय ने एयरलाइंस कंपनियों को फ्लाइट के दौरान डिस्पोजेबल प्लेट, कटलरी और सेट-अप प्लेट का इस्तेमाल करने का आदेश दिया है। डिस्पोजेबल ग्लास, बोतल, कैन और कंटेनर में ही चाय, कॉफी और दूसरे पेय पदार्थ परोसे जाएंगे। इसके अलावा हरेक Meal और Beverages परोसेने के लिए क्रू मेंबर को ग्लव्स का एक नया सेट पहनना होगा।

flights

सरकार ने बोर्डिंग से पहले एयरलाइंस से यह सुनिश्चित करने को कहा है कि यात्रियों के मनोरंजन के लिए डिस्पोजेबल ईयरफोन का इस्तेमाल हो। यात्रियों के लिए साफ और कीटाणुरहित ईयरफोन की व्यवस्था करनी होगी। एयरलाइंस कंपनियों को हर उड़ान के बाद सभी टचप्वाइंट्स को सैनिटाइज करना होगा। इससे पहले उड्डयन मंत्रालय ने बुधवार को ट्विटर पर एक बयान जारी कर जानकारी दी थी कि विदेश जाने वाले यात्रियों को अब आवेदन करने की कोई जरूरत नहीं है। इसके लिए सीधे बुकिंग कराई जा सकती है।