Connect with us

देश

UP: सीएम योगी ने लॉन्च किया ‘मिशन शक्ति’ का तीसरा चरण, महिलाओं के लिए रोजगार के मौके बढ़ाने का संकल्प

Mission Shakti : सीएम योगी ने कहा कि सुरक्षित, सशक्त और स्वावलंबी महिलाएं ही यूपी की नींव हैं। उन्होंने कहा कि इस नींव को मजबूत करने का काम ही मिशन शक्ति कर रहा है। इसका पहला चरण 2020 में शारदीय नवरात्र पर शुरू किया गया था।

Published

on

लखनऊ। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने आज से सूबे में महिलाओं और बेटियों को आत्मनिर्भर बनाने वाले मिशन शक्ति के तीसरे चरण को लॉन्च किया। योगी ने इस मौके पर कहा कि मिशन शक्ति का तीसरा चरण महिलाओं के लिए रोजगार के मौके बढ़ाने और उन्हें मुख्यधारा के साथ सुरक्षा देने का काम करेगा। राजधानी के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में हुए कार्यक्रम में गवर्नर आनंदीबेन पटेल और मोदी सरकार में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण भी मौजूद थे। सीएम योगी ने कहा कि सुरक्षित, सशक्त और स्वावलंबी महिलाएं ही यूपी की नींव हैं। उन्होंने कहा कि इस नींव को मजबूत करने का काम ही मिशन शक्ति कर रहा है। इसका पहला चरण 2020 में शारदीय नवरात्र पर शुरू किया गया था। योगी ने कहा कि हम सभी सकारात्मक सहयोग से मिशन को सफल करेंगे और इससे समतामूलक समाज बनाएंगे। उन्होंने कहा कि सरकार प्रदेश की मातृशक्ति को बढ़ाने के लिए समर्पित है। सरकार यूपी की नारी शक्ति के सम्मान, सुरक्षा और मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है। इससे पहले मिशन शक्ति के पहले और दूसरे चरण के दौरान उत्कृष्ट कार्य करने वाली यूपी की 75 महिलाओं को गवर्नर आनंदीबेन पटेल और निर्मला सीतारमण ने सम्मानित किया।

इनमें डॉक्टर, स्वास्थ्यकर्मी, स्वयं सहायता समूह, महिला स्वयंसेवी संगठन, शिक्षा और महिला सशक्तिकरण में खास योगदान करने वाली महिलाएं थीं। इस मौके पर योगी ने निराश्रित महिला पेंशन योजना के तहत 29.68 लाख महिलाओं के खातों में 451 करोड़ रुपए भेजे। 1.73 लाख से ज्यादा नए लाभार्थियों को भी योजना से जोड़ा गया। इसके अलावा मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के तहत 1.55 लाख लड़कियों के बैंक खातों में 30.12 करोड़ भी उन्होंने भेजे।

Mission Shakti Nirmala Sitaraman Uttar Pradesh UP

योगी सरकार ने इसके साथ ही 59 हजार ग्राम पंचायत भवनों में मिशन शक्ति कक्ष की भी शुरुआथ कर दी है। मिशन शक्ति के तहत 84.79 करोड़ की लागत से 1286 थानों में शौचालय बनेंगे। साथ ही महिला पुलिस बटालियनों के 2982 पदों पर विशेष भर्ती की जाएगी। मिशन शक्ति का तीसरा चरण खास इसलिए है क्योंकि इस दौरान बलिनी दुग्ध उत्पादक कंपनी की तर्ज पर नई कंपनियां स्थापित होंगी। इसके साथ इस साल दिसंबर तक एक लाख नए स्वयं सहायता समूह बनाने का भी लक्ष्य रखा गया है।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement