Connect with us

देश

Denied Tickets: पंजाब के बाद उत्तराखंड में भी प्रियंका गांधी के महिला प्रेम की खुली कलई, सिर्फ इतनों को ही दिया टिकट

कांग्रेस का महिला प्रेम सिर्फ यूपी तक ही सिमट कर रह गया है। पहले पंजाब में 86 उम्मीदवारों की लिस्ट में 9 महिलाओं को पार्टी ने मौका दिया। अब उत्तराखंड में भी उसका यही हाल है। कांग्रेस ने उत्तराखंड के लिए 53 नामों की पहली लिस्ट जारी की है। इसमें सिर्फ 3 महिलाओं को ही कांग्रेस ने चुनाव लड़ने योग्य माना है।

Published

on

priyanka gandhi

नई दिल्ली। कांग्रेस का महिला प्रेम सिर्फ यूपी तक ही सिमट कर रह गया है। पहले पंजाब में 86 उम्मीदवारों की लिस्ट में 9 महिलाओं को पार्टी ने मौका दिया। अब उत्तराखंड में भी उसका यही हाल है। कांग्रेस ने उत्तराखंड के लिए 53 नामों की पहली लिस्ट जारी की है। इसमें सिर्फ 3 महिलाओं को ही कांग्रेस ने चुनाव लड़ने योग्य माना है। जबकि, यूपी में प्रियंका गांधी 40 फीसदी महिलाओं को टिकट देने की बात करके लड़की हूं, लड़ सकती हूं का नारा हर रोज बुलंद कर रही हैं। उत्तराखंड में कांग्रेस ने मसूरी से गोदावरी थापली, भगवानपुर से ममता राकेश और रुद्रपुर से मीना शर्मा को टिकट दिया है। जबकि, अगर 40 फीसदी टिकट महिलाओं को देने की बात अमल में लाई जाती, तो 21 जगह महिला उम्मीदवार बनाए जाते।

उत्तराखंड में कांग्रेस का हाल उसकी पोस्टर गर्ल रही प्रियंका मौर्य ने भी खोल दिया था। प्रियंका मौर्य ने आरोप लगाया था कि टिकट के लिए उनसे प्रियंका गांधी के निजी सचिव संदीप सिंह ने पैसे मांगे। इतना ही नहीं, कांग्रेस की महिला नेता ने ये तक कह दिया कि कितने दिन ही तुम्हे राजनीति में आए हुए हैं कि टिकट मांग रही हो। प्रियंका ने ऐसे में कांग्रेस का पोस्टर गर्ल होने के बाद भी पार्टी का दामन छोड़ दिया और बीजेपी से नाता जोड़ लिया। वहीं, यूपी में भी कांग्रेस की ओर से महिलाओं को आगे बढ़ाने की बात किसी काम नहीं आ रही है।

uttar pardesh

प्रियंका गांधी ने यूपी में 150 कैंडिडेट की लिस्ट जारी की। इसमें उन्होंने हाथरस रेप पीड़ित परिवार की महिला को भी टिकट दिया, लेकिन उस प्रत्याशी ने चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया। कल की ही बात है, जब बरेली से कांग्रेस की उम्मीदवार और पूर्व मेयर सुप्रिया ऐरन पार्टी छोड़कर सपा में चली गईं। उनके पति और कांग्रेस के पूर्व सांसद प्रवीण सिंह ऐरन भी पत्नी के साथ सपा के खेमे में जाकर बैठ गए हैं। इससे भी महिलाओं को आगे करने की प्रियंका गांधी की बात को जोर का झटका लगा है। सूत्रों के मुताबिक यूपी में कांग्रेस की डांवाडोल हालत को देखते हुए ही महिलाएं उसका साथ देने से कतरा रही हैं। ऐसे में लगता नहीं कि चुनाव में कांग्रेस का कोई उद्धार होने जा रहा है।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement