Connect with us

देश

Controversial Statement: ‘टीएमसी समर्थक बांग्लादेशियों को ही मिले वोटर लिस्ट में जगह’, ममता के विधायक का विवादित बयान, बाद में पलटे

वीडियो वायरल होने पर खोकन दास ने मीडया से कहा कि अवैध बांग्लादेशी हमारे क्षेत्र में आ रहे हैं। मैंने टीएमसी के लोगों से ये कहा कि उनको वोटर लिस्ट में जगह नहीं मिलनी चाहिए। बीजेपी के बर्धमान जिला प्रवक्ता सौम्यराज मुखर्जी ने खोकन के बयान पर कहा कि इसी वजह से बीजेपी नागरिकता कानून लाई है।

Published

tmc mla khokan das

बर्धमान। पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी के नेता आजकल लगातार विवादित बयान दे रहे हैं। पहले अखिल गिरि ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के बारे में विवादित बोल कहे। अब ममता की पार्टी के विधायक खोकन दास ने विवादित बयान दिया है। बर्धमान दक्षिण के विधायक खोकन दास ने पश्चिम बंगाल में अवैध बांग्लादेशियों को वोटर लिस्ट में शामिल कराने पर ये बयान दिया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक खोकन ने मंगलवार को हुए एक कार्यक्रम में कहा कि टीएमसी का समर्थन करने वाले बांग्लादेशियों को ही वोटर लिस्ट में शामिल कराया जाए। बता दें कि इस वक्त वोटर लिस्ट में लोगों के नाम जोड़े जा रहे हैं।

मीडिया की खबरों के मुताबिक खोकन का एक वीडियो वायरल हुआ है। इस वीडियो में खोकन कहते दिख रहे हैं कि बांग्लादेश से नए लोग आ रहे हैं। इनमें से कई हिंदू भावनाओं के आधार पर बीजेपी को वोट देते हैं। सुनिश्चित करें कि हमारी पार्टी को जो समर्थन करते हैं, उनका नाम ही वोटर लिस्ट में शामिल कराया जाए। वीडियो वायरल होने पर खोकन दास ने मीडया से कहा कि अवैध बांग्लादेशी हमारे क्षेत्र में आ रहे हैं। मैंने टीएमसी के लोगों से ये कहा कि उनको वोटर लिस्ट में जगह नहीं मिलनी चाहिए। बीजेपी के बर्धमान जिला प्रवक्ता सौम्यराज मुखर्जी ने खोकन के बयान पर कहा कि इसी वजह से बीजेपी नागरिकता कानून लाई है। मुखर्जी ने कहा कि विधायक को अवैध अप्रवासियों की जानकारी राज्य और केंद्र सरकार को देनी चाहिए।

Mamata Banerjee

खोकन दास 2021 में पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान अपने ही कंचननगर रथतला इलाके में कम वोट हासिल कर सके थे। इस इलाके में बांग्लादेशियों की बड़ी आबादी बताई जाती है। माना जा रहा है कि विधायक ने इसी वजह से विवादित बयान दिया। बीजेपी इस मामले को लेकर अब ममता बनर्जी को भी घेर सकती है। बता दें कि अखिल गिरि के राष्ट्रपति पर दिए गए विवादित बयान पर ममता को सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी पड़ी थी।

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement