Conversion: यूपी के बरेली में तांत्रिक के भेस में युवतियों से रेप करता था सैयद निजाम, धर्म परिवर्तन कराने का भी आरोप

Conversion: इस गैंग ने कई दिव्यांगों का भी धर्म परिवर्तन कराया था। सभी आरोपियों को इस मामले में जेल भेजा जा चुका है और पुलिस ने इनके खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट भी दाखिल कर दी है। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने जबरन और लालच देकर धर्मांतरण के खिलाफ कानून पास करवा रखा है। जिसके बाद ऐसे लोगों पर प्रभावी कार्रवाई हो रही है।

Avatar Written by: August 28, 2021 12:50 pm
breli

बरेली। उसका नाम सैयद निजाम है। वह खुद को तांत्रिक बताता था। घरों में हिंदू नाम से पहुंचता। बताता कि हर मुश्किल का हल चुटकियों में तंत्र विद्या से कर देगा। फिर घरों में महिलाओं को अपने जाल में फांसता और उनसे रेप करता। रेप ही नहीं, महिलाओं से पैसे ऐंठने का काम भी सैयद निजाम करता था। इसके अलावा धर्म परिवर्तन भी करा देता, लेकिन इन घिनौने काम का ये मास्टरमाइंड यूपी पुलिस से बच नहीं सका। बरेली पुलिस ने सैयद निजाम को बदायूं जिले से गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के मुताबिक पूछताछ में सैयद निजाम ने कबूला है कि उसने एक दर्जन से ज्यादा लड़कियों का धर्मांतरण कराकर उन्हें हिंदू से मुसलमान बनाया। इन लड़कियों को झांसा और धमकी देकर वह लाखों रुपए भी ऐंठ चुका है।

haryana

पुलिस के मुताबिक निजाम बरेली के जगतपुर का निवासी है। उसके गैंग में 12 और आरोपी शामिल हैं। पुलिस पूछताछ में निजाम के अपना गुनाह कबूल करने का वीडियो भी सामने आया है। इस घटना के पुलिस के पास पुख्ता सबूत हैं। पुलिस को तमाम युवतियों और महिलाओं ने निजाम के खिलाफ शिकायत दी थी। जिसके बाद बरेली पुलिस ने आनन-फानन कार्रवाई करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया। अब उसके गैंग के लोगों की तलाश तेजी से की जा रही है।

बता दें कि इससे पहले लालच देकर धर्मांतरण कराने वाले एक अंतरराज्यीय गैंग का खुलासा यूपी एसटीएफ ने किया था। उस मामले में लखनऊ और मुंबई मिलाकर 4 आरोपी गिरफ्तार किए गए थे। ये गैंग लोगों को पैसे और खूबसूरत लड़की से शादी करने का लालच देकर धर्म बदलवाता था। इस गैंग ने कई दिव्यांगों का भी धर्म परिवर्तन कराया था। सभी आरोपियों को इस मामले में जेल भेजा जा चुका है और पुलिस ने इनके खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट भी दाखिल कर दी है। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने जबरन और लालच देकर धर्मांतरण के खिलाफ कानून पास करवा रखा है। जिसके बाद ऐसे लोगों पर प्रभावी कार्रवाई हो रही है।