सितंबर में कोरोनावायरस भारत की 58 फीसदी जनसंख्या को प्रभावित कर सकता हैः कैप्टन अमरिंदर सिंह

कोरोनावायरस के संकट से वैसे तो पूरा देश परेशान है, लेकिन पंजाब में मुश्किलें और बढ़ सकती हैं। दरअसल, पंजाब में अब तक सिर्फ 2877 लोगों का सैंपल इकट्ठा किया गया है।

Written by: April 10, 2020 3:51 pm

नई दिल्ली। कोरोनावायरस के संकट से वैसे तो पूरा देश परेशान है, लेकिन पंजाब में मुश्किलें और बढ़ सकती हैं। दरअसल, पंजाब में अब तक सिर्फ 2877 लोगों का सैंपल इकट्ठा किया गया है। खुद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह मान रहे हैं कि यह आंकड़ा काफी कम है। हालांकि, उनकी दलील है कि अभी सिर्फ तीन जगह टेस्ट हो रहा है और तीन जगह के लिए स्वीकृति मांगी गई है।

Capitan Amrinder Singh Punjab

शुक्रवार को सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि हम सिर्फ किसानों को लॉकडाउन में छूट देंगे, क्योंकि इस बार अच्छी फसल हुई है। कोरोना के कारण आंकड़े भयावह हैं। चीजें अच्छी नहीं हैं और लोगों को सुरक्षित रखना हमारा कर्तव्य है। हम दोपहर में कैबिनेट में फैसला करेंगे कि लॉकडाउन के संबंध में हम क्या करने जा रहे हैं। अभी लॉकडाउन हटाना सही नहीं होगा।


कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि आज तक हमारे पास 651 लोग हैं जो निज़ामुद्दीन, दिल्ली से पंजाब आए थे। हमने उनमें से 636 का पता लगाया है। 15 लोगों की तलाश अभी भी जारी है। आज तक पंजाब में # COVID19 मामलों की 132 पुष्टि हुई है, जिनमें से 11 लोगों की मौत हो चुकी है। हमारे द्वारा अब तक एकत्र किए गए नमूनों की कुल संख्या 2877 है, एक राज्य के लिए यह बहुत अधिक नहीं है।


पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि भारतीय वैज्ञानिकों और चिकित्सकों द्वारा जो आंकड़े मुझे दिए गए हैं कि उसके अनुसार 85-87% पंजाब के लोग संक्रमित हो सकते हैं, यदि ये आंकड़े सही हैं तो वे भयावह आंकड़े हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हमारे पास पूरी दुनिया के बहुत वरिष्ठ और शीर्ष श्रेणी के चिकित्सा अधिकारियों की रिसर्च रिपोर्ट है साथ ही इस रिपोर्ट को सही तरीके से जांचकर हमारे वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारियों ने कहा है कि (# COVID19) मध्य सितंबर में भारत में चरम पर होगा, जब यहां की 58% जनसंख्या संक्रमित हो सकती है।


अमरिंदर सिंह ने कहा कि वर्तमान में केवल 1 रोगी वेंटिलेटर पर है, 2 पूर्व-वेंटिलेटर चरण पर है जहां उन्हें केवल ऑक्सीजन की आवश्यकता है। हमारे पास सरकारी अस्पतालों में 76 वेंटिलेटर और निजी अस्पतालों में 358 वेंटिलेटर है। यानि हमारे पास कुल वेंटिलेटर की संख्या 434 है।


सीएम अमरिंदर सिंह ने कहा कि दुनिया भर से 95,000 लोग अमृतसर और अन्य स्थानों पर वापस आए हैं। उन्हें नियंत्रित रखना हमारा मुख्य ऑपरेशन बन गया है। वह नियंत्रण में हैं।