कोरोना के दौर में पोल खुलने से घबराई दिल्ली सरकार, मेडिकल स्टाफ को सोशल मीडिया से दूर रहने की दी हिदायत

अस्पताल प्रशासन की ओर से जारी एक आदेश में कहा गया है कि ड्यूटी में आ रही किसी भी दिक्कत के लिए स्टाफ डिपार्टमेंट हेड के पास शिकायत भेज सकता है। लेकिन बिना उच्च अधिकारियों के संज्ञान में लाये सोशल मीडिया में समस्याओं को पब्लिक करना उचित नहीं है। मेडिकल स्टाफ को इससे बचना चाहिए।

Avatar Written by: April 23, 2020 7:12 pm

नई दिल्ली। कोरोना के दौर में सरकारी अक्षमताओं की पोल खुलने के डर से केजरीवाल सरकार बुरी तरह घबराई हुई है। दिल्ली सरकार के गुरु तेगबहादुर अस्पताल की ओर से कोविड-19 ड्यूटी में तैनात सभी मेडिकल स्टाफ को किसी भी समस्या को सोशल मीडिया पर हाइलाइट करने से बचने को कहा गया है।

satyendra-jain

अस्पताल प्रशासन की ओर से जारी एक आदेश में कहा गया है कि ड्यूटी में आ रही किसी भी दिक्कत के लिए स्टाफ डिपार्टमेंट हेड के पास शिकायत भेज सकता है। लेकिन बिना उच्च अधिकारियों के संज्ञान में लाये सोशल मीडिया में समस्याओं को पब्लिक करना उचित नहीं है। मेडिकल स्टाफ को इससे बचना चाहिए।

corona

इस आदेश पर दिल्ली की राजनीति गर्मा गई है। भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने ट्वीट कर लिखा है कि “केजरीवाल सरकार का आर्डर – कोई डॉक्टर , नर्स या कर्मचारी अपनी प्रॉब्लम ट्विटर, व्हाट्सएप, फेसबुक में नहीं शेयर करेगा। मीडिया को बताने पर भी प्रतिबंध। न खाना , न मास्क, न एकोमोडेशन – कुछ न मिले, चुप रहो। ये आर्डर इसलिए क्योंकि सोशल मीडिया पर सरकार के सारे झूठ की पोल खुल रही है।”

Support Newsroompost
Support Newsroompost