लॉकडाउन में फंसे मजदूरों के लिए अच्छी खबर, गृह राज्य पहुंचाने के लिए अब रोजाना चलेंगी 100 श्रमिक ट्रेनें

केंद्र के मुताबिक अब प्रतिदिन 1,200 की जगह लगभग 1,700 यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाया जाएगा। मंत्रालय ने अपने एक बयान में कहा कि ‘एमएचए और रेल मंत्रालय ने श्रमिक विशेष रेलगाड़ियों से प्रवासी श्रमिकों को ले जाये जाने पर आज सुबह एक वीडियो कॉन्फ्रेंस आयोजित की।’

Avatar Written by: May 12, 2020 9:02 am

नई दिल्ली। लॉकडाउन की वजह से गैर-राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों को उनके गृह राज्य पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। केंद्र सरकार ने जानकारी देते हुए कहा है कि, रेलवे प्रवासी श्रमिकों को तेजी से उनके गृह राज्य पहुंचाने के लिए अब रोजाना 100 श्रमिक ट्रेन चलायी जाएंगी। बता दें कि इस कदम से दूसरे राज्यों में लॉकडाउन के चलते फंसे लोगों को राहत मिलेगी।

Indian railway corona

इस तरह की ट्रेनों को चलाने को लेकर केंद्र सरकार ने जानकारी दी है कि 1 मई से अब तक कुल 513 स्पेशल ट्रेन चलायी जा चुकी है। इन स्पेशल ट्रेनों के जरिए देशभर में 6 लाख से अधिक प्रवासी मजदूर अपने घर तक पहुंच चुके हैं। उन्होंने बताया कि सोमवार की शाम तक 363 ट्रेन अपने गंतव्य तक पहुंच चुकी है जबकि 105 ट्रेन रास्ते में हैं। अब तक यूपी के लिए सबसे अधिक 172 ट्रेन चलायी जा चुकी है जबकि दूसरे नं पर बिहार है जहां पर 100 रेलगाड़ियां पहुंची है।

railway

केंद्र के मुताबिक अब प्रतिदिन 1,200 की जगह लगभग 1,700 यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाया जाएगा। मंत्रालय ने अपने एक बयान में कहा कि ‘एमएचए और रेल मंत्रालय ने श्रमिक विशेष रेलगाड़ियों से प्रवासी श्रमिकों को ले जाये जाने पर आज सुबह एक वीडियो कॉन्फ्रेंस आयोजित की।’

Ajay bhalla

वहीं पैदल घर जा रहे लोगों के लिए केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को को पत्र लिखकर निर्देश दिए। उन्होंने यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि श्रमिकों के ऐसी स्थिति में मिलने पर, जब तक उनके घर लौटने के लिए श्रमिक विशेष ट्रेन या बस की सुविधा नहीं हो जाती है, उन्हें आश्रय और भोजन, पानी आदि प्रदान किया जाना चाहिए।

Support Newsroompost
Support Newsroompost