Sabarimala: श्रद्धालुओं के घर तक डाक विभाग पहुंचाएगा सबरीमाला का स्वामीप्रसादम, करना होगा इतना भुगतान

Sabarimala Swamyprasadam : अगर किसी श्रद्धालु को डाक के जरिए प्रसाद ग्रहण करना है तो इस सेवा को पाने के लिए श्रद्धालु देश के किसी भी पोस्ट ऑफिस(Indian Post) से स्वामीप्रसादम(Swamyprasadam) की बुकिंग कर सकते हैं।

Avatar Written by: December 1, 2020 9:00 pm
sabarimala Swamiprasdam kerala post

नई दिल्ली। केरल के सबरीमाला मंदिर के श्रद्धालुओं के लिए एक अच्छी खबर सामने आई है। बता दें कि कोरोना काल के चलते मंदिर तक ना जा पाने वाले श्रद्धालुओं को अब केरल के डाक विभाग ने उनके घर तक स्वामीप्रसादम पहुंचाने का फैसला लिया है। मंगलवार को इस संबंध में डाक विभाग ने एक विज्ञप्ति जारी की। उसमें कहा गया है कि यह सेवा पूरे देश के लिए उपलब्ध होगी और प्रसाद को श्रद्धालुओं के दरवाजे तक पहुंचाया जाएगा। बता दें कि डाक विभाग का जिस तरह से विशाल नेटवर्क है, उसको देखते हुए विभाग ने फैसला किया है कि देश भर में सबरीमाला मंदिर के श्रद्धालुओं को प्रसाद पहुंचाया जाएगा। इसके लिए विभाग ने एक बड़े पैमाने पर बुकिंग और वितरण पैकेज तैयार किया है। प्रसाद को देश के हर कोने तक पहुंच सके इसके लिए केरल डाक केंद्र ने त्रावणकोर देवास्वोम बोर्ड के साथ एक समझौता किया है।

Sabarimala temple

अगर किसी श्रद्धालु को डाक के जरिए प्रसाद ग्रहण करना है तो इस सेवा को पाने के लिए श्रद्धालु देश के किसी भी पोस्ट ऑफिस से स्वामीप्रसादम की बुकिंग कर सकते हैं। प्रसाद के एक पैकेट के लिए श्रद्धालुओं को 450 रुपये का भुगतान करना होगा। आपको स्वामीप्रसादम के एक पैकेट में एक पैकेट अरावना, आदियासिष्टम नेय (घी), विभूति, कुमकुम, हल्दी और अर्चनाप्रसादम मिलेगा।

indian post

ऐसा नहीं है कि ये सेवा डाक से है तो आप कितने भी पैकेट बुक कर सकते हैं, जी नहीं, इसकी भी सीमा तय की गई है। बता दें कि एक व्यक्ति एक बार में प्रसाद के 10 पैकेट ही बुक कर सकता है। जैसे ही प्रसाद, स्पीड पोस्ट से बुक होगा, स्पीड पोस्ट नंबर के साथ एक मैसेज जेनरेट होगा जो श्रद्धालु को एसएमएस के माध्यम से मिल जाएगा, जिससे पैकेट को ट्रैक किया जा सकेगा।

sabarimala Swamiprasdam

डाक विभाग की तरफ से चालू की गई इस सर्विस के जरिए आज की तारीख तक प्रसाद के 9000 ऑर्डर पहले ही बुक किए जा चुके हैं और यह संख्या लगातार बढ़ रही है। गौरतलब है कि इस सेवा की शुरुआत छह नवंबर को शुरू हुई थी। विभाग के अनुसार इस सेवा के शुरू होने के बाद जनता की ओर से जबरदस्त प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है।