DMK सांसद आरएस भारती को अंतरिम जमानत, आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप में हुई थी गिरफ्तारी

भारती के खिलाफ 1989 के अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। डीएमके नेता के खिलाफ चेन्नई के दो पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है।

Written by: May 23, 2020 11:54 am

नई दिल्ली। तमिलनाडु में द्रविड़ मुनेत्र कझगम पार्टी (डीएमके) के राज्यसभा सांसद आरएस भारती को पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। हालांकि कुछ घंटों के बाद ही आरएस भारती को अंतरिम जमानत दे दी गई। चेन्नई पुलिस ने आज सुबह ही उन्हें गिरफ्तार किया था। राज्यसभा सांसद पर अनुसूचित जाति  के खिलाफ अपमानजनक बयान देने का आरोप है। उन्होंने कथित तौर पर ने इस साल फरवरी माह में अनुसूचित जाति के समुदाय के खिलाफ भाषण दिया था।

RS Bharti Arrest

भारती के वकील ने कोर्ट में जमानत के लिए अर्जी दाखिल की जिसके तहत उन्हें अंतरिम जमानत दी है। भारती के अधिवक्ता शनमुगासुंदरम ने कहा, उनकी गिरफ्तारी का एकमात्र कारण यह था कि उन्होंने भ्रष्टाचार के लिए मुख्यमंत्री और अन्य मंत्रियों के खिलाफ शिकायतें दर्ज की थी।

भारती के खिलाफ 1989 के अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। डीएमके नेता के खिलाफ चेन्नई के दो पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है।

DMK Leader RS Bharti

इससे पहले भारती ने अपनी गिरफ्तारी को सत्ताधारी एआईएडीएमके की साजिश बताया। उन्होंने कहा कि शुक्रवार शाम को मैंने मुख्यमंत्री पनीरसेल्वम के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोप में शिकायत दर्ज कराई थी, इसीलिए अचानक उनकी गिरफ्तारी की गई है। उन्होंने यह भी कहा कि एक समूह द्वारा सोशल मीडिया पर उन्हें बदनाम करने के लिए कैंपेन चलाया जा रहा है। इसमें उनके एक भाषण का गलत इस्तेमाल किया जा रहा है।

मामला फरवरी 2020 का है। सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो क्लिप में भारती ने दलित जजों और अनुसूचित जाति के लोगों पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी।