यूपी में प्रवेश करते ही कामगारों को मिले पीने का पानी और भोजन, योगी का स्पष्ट निर्देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आम जनता से अपील की है कि जो जहां हैं वहीं रहें। पैदल ना चलें। सभी को सुरक्षित उनके गंतव्य तक पहुंचाया जाएगा। यूपी में बड़े पैमाने पर रोजगार की व्यवस्था भी की गई है।

Written by: May 15, 2020 5:44 pm

नई दिल्ली। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी आने वाले कामगारों को लेकर स्पष्ट निर्देश दिया है। सीएम योगी आदित्यनाथ के मुताबिक यूपी में प्रवेश करते ही कामगारों व श्रमिकों को सबसे पहले पेयजल और भोजन मुहैया कराया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अधिकारी इस बात को सुनिश्चित करें कि उनके जिले में कोई भी व्यक्ति पैदल और बाइक से यात्रा न करे। सभी श्रमिकों को बसों के जरिए उनके घर पहुंचाया जाए।

yogi-adityanath

सीएम योगी ने यह भी कहा कि ट्रक से सवारी ढोने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। सीएम योगी के निर्देशों के मुताबिक उत्तर प्रदेश सरकार पहले से ही सभी प्रवासी और कमजोर वर्ग के लोगों को रहने खाने व चिकित्सा के अलावा राशन किट और भरण-पोषण भत्ता भी उपलब्ध करा रही है। लोगों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए 10000 बसें लगाई गई हैं। लोगों से कोई भी शुल्क नहीं लिया जाएगा।

Migrant Workers

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आम जनता से अपील की है कि जो जहां हैं वहीं रहें। पैदल ना चलें। सभी को सुरक्षित उनके गंतव्य तक पहुंचाया जाएगा। यूपी में बड़े पैमाने पर रोजगार की व्यवस्था भी की गई है। मनरेगा के तहत करीब 25 लाख लोगों को रोज काम दिया जा रहा है। बंद पड़े औधोगिक संस्थानों को खुलवा कर उन्हें उनमें काम दिलाया जा रहा है। सरकार की कोशिश के चलते चीनी मिलों,कोल्ड स्टोरेज व ईंट भट्ठों को लॉकडाउन अवधि में भी बंद नहीं होने दिया गया।

migrant workers train
अब तक यूपी में एक हफ्ते में 350 ट्रेन आई हैं। इनके जरिए 43,0000 लोग आए हैं। देश में कुल ट्रेनों में से 60 फ़ीसदी ट्रेन यूपी में आई है। इसके अलावा 10000 बसे लगी हैं जो लोगों को गंतव्य तक निशुल्क पहुंचा रही हैं। पिछले एक हफ्ते में कुल 6:50 लाख लोग वापिस आए हैं। यूपी आए 12.50 लाख लोगों की क्वरंटाइन सेंटर में व्यवस्था की गई है। 12 से 13 लाख फूड पैकेट्स रोज बांटे जा रहे हैं।