Maharashtra: अनिल देशमुख की बढ़ी मुश्किलें, प्रवर्तन निदेशालय ने की बड़ी कार्रवाई

Maharashtra: इससे पहले बॉम्बे हाईकोर्ट ने अनिल देशमुख को झटका दिया। हाईकोर्ट ने भ्रष्टाचार के मामले में सीबीआई की एफआईआर को चुनौती देने वाले अनिल देशमुख की याचिका को खारिज कर दिया था। हाईकोर्ट ने सीबीआई से 4 सप्ताह में देशमुख की याचिका पर जवाब दाखिल करने को कहा है।

Avatar Written by: May 11, 2021 11:18 am
Anil Deshmukh

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख (former Maharashtra Home Minister Anil Deshmukh) की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही है। इसी कड़ी में अब प्रवर्तन निदेशालय (ED) अनिल देशमुख बड़ी कार्रवाई की है। प्रवर्तन निदेशालय (ED) के सूत्र ने जानकारी दी कि  महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया। प्रवर्तन निदेशालय ने सीबीआई की एफआईआर के आधार पर मामला दर्ज किया है।

इससे पहले बॉम्बे हाईकोर्ट ने अनिल देशमुख को झटका दिया। हाईकोर्ट ने भ्रष्टाचार के मामले में सीबीआई की एफआईआर को चुनौती देने वाले अनिल देशमुख की याचिका को खारिज कर दिया था। हाईकोर्ट ने सीबीआई से 4 सप्ताह में देशमुख की याचिका पर जवाब दाखिल करने को कहा है।

parambir singh and Anil deshmukh

बता दें कि परमबीर सिंह (Parambir Singh) ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (CM Uddhav Thackeray) को चिट्ठी लिखी थी। इस चिट्ठी में परमबीर सिंह ने एंटीलिया केस (Antilia case) में फंसे मुंबई पुलिस के बर्खास्त एपीआई सचिन वाजे (Sachin Waze) और अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) को लेकर सनसनीखेज दावा किया था।

इस चिट्ठी में उन्होंने अनिल देशमुख पर आरोप लगाते हुए कहा गया कि उन्होंने सचिन वाजे से 100 करोड़ रुपये हर महीने कलेक्ट करने को कहा था। उन्होंने लिखा कि मुंबई पुलिस के क्राइम ब्रांच के इंटेलिजेंस यूनिट की जिम्मेदारी संभालने वाले सचिन वाजे को गृह मंत्री अनिल देशमुख ने पिछले कुछ महीनों के दौरान अपने आधिकारिक आवास ज्ञानेश्वर पर कई बार बुलाया था। वाजे को बार-बार गृह मंत्री के लिए पैसा इकट्ठा करने का निर्देश दिया गया था।

Support Newsroompost
Support Newsroompost