Connect with us

देश

ED’s Summon to Hemant Soren : ‘पूछताछ क्यों करते हो, मुझे गिरफ्तार करके दिखाओ ना’, प्रवर्तन निदेशालय के समन पर भड़के हेमंत सोरेन, बीजेपी पर लगाए आरोप

Hemant Soren : ईडी के समन पर पेश न होने के बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि हमने राज्य में कुछ बाहरी गैंगों की पहचान की है। जो चाहते हैं कि झारखंड के आदिवासी अपने पैरों पर न खड़े हो सकें। इस राज्य में झारखंडियों का ही शासन रहेगा, किसी बाहरी ताकत का कब्जा नहीं हो सकेगा।

Published

नई दिल्ली। झारखंड की राजनीति में एक बार फिरसे ईडी के समन को लेकर विबाद शुरू हो गया है। दरअसल झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन गुरुवार को ईडी के समन पर तो पेश नहीं हुए, लेकिन इस बहाने भाजपा के लीडरशिप वाली केंद्र सरकार पर उन्होंने जोरदार हमला बोला। उन्होंने कहा कि यदि मेरी ओर से कोई अपराध किया गया है तो फिर समन और नोटिस क्यों भेजे जा रहे हैं, आओ और मुझे गिरफ्तार कर लो। हेमंत सोरेन ने कहा, ‘मुझे ईडी की ओर से आज के लिए समन जारी किया गया, जब छत्तीसगढ़ में मेरा आज आयोजन था। यदि मैंने कोई अपराध किया है तो फिर आकर मुझे गिरफ्तार कर लो। इसके लिए पूछताछ की क्या जरूरत है? ईडी ऑफिस के बाहर सुरक्षा क्यों बढ़ाई गई है। आप झारखंडियों से डरे हुए क्यों हैं? ये कोई पहली बार नहीं है जब सोरेन ने ऐसा कुछ कह है बल्कि सीएम हेमंत सोरेन पहले से ही बार-बार भाजपा पर ईडी को इस्तेमाल करने का आरोप लगाते रहे हैं।

आपको बता दें कि ईडी के समन पर पेश न होने के बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि हमने राज्य में कुछ बाहरी गैंगों की पहचान की है। जो चाहते हैं कि झारखंड के आदिवासी अपने पैरों पर न खड़े हो सकें। इस राज्य में झारखंडियों का ही शासन रहेगा, किसी बाहरी ताकत का कब्जा नहीं हो सकेगा। आने वाले लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव में राज्य से भाजपा का सफाया कर दिया जाएगा।’ इस बीच हेमंत सोरेन को ईडी द्वारा समन जारी किए जाने के खिलाफ झारखंड मुक्ति मोर्चा सड़क पर उतर आया है। सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ताओं का हुजूम पहले राजधानी रांची स्थित ऐतिहासिक मोरहाबादी मैदान में इकट्ठा हुआ और वहां से रैली की शक्ल में मुख्यमंत्री आवास पहुंचा। मुख्यमंत्री के आवास पर दिनभर कार्यकर्ताओं का हुजूम उमड़ा रहा।

हेमंत सोरेन के आवास के बाहर जुटी समर्थकों की भीड़

एक तरफ ईडी के समन पर पेश होने से इधर, झामुमो कार्यकर्ताओं के प्रदर्शन की वजह से मुख्यमंत्री आवास की ओर जाने वाली सड़कों पर जाम जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई। कांके रोड जाने वाले मार्ग में कुछ स्कूल बस जाम में फंस गई। कार्यकर्ता, पार्टी का झंडा थामे लगातार नारेबाजी कर रहे थे। सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि ये कार्यकर्ताओं की स्वाभाविक प्रतिक्रिया है। उन्होंने कहा कि झामुमो संघर्ष की पार्टी है। सड़क से सदन तक सामंतवादी मानसिकता के खिलाफ प्रदर्शन होगा। अभी तो ये शुरुआत है। गौरतलब है कि ईडी ने सीएम को आज तलब किया था लेकिन वो नहीं आए। आपको बता दें कि भारतीय जनता पार्टी के ऊपर अक्सर हेमंत सोरेन ईडी और सीबीआई का इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हैं और इस बार वह खुद ED के फंदे में फंसते हुए नजर आ रहे।

Advertisement
Advertisement
Advertisement