Connect with us

देश

Political Jibe: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने राहुल गांधी पर साधा निशाना, पूछा— आपके जीजा को भी मिला था ये काम

Monetisation: राहुल गांधी ने मौद्रीकरण के मसले पर बुधवार को फिर सरकार पर निशाना साधा। बुधवार को उन्होंने ‘इंडियाऑनसेल’ हैशटैग से हिंदी में ट्वीट किया, ‘पहले ईमान बेचा और अब..’ कांग्रेस ने भी इसी हैशटैग का इस्तेमाल करते हुए सरकार पर अपने उद्योगपति मित्रों के फायदे के लिए देश की संपत्तियों के दोहन का आरोप लगाया।

Published

on

मुंबई। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सरकारी संपत्तियों के मौद्रीकरण के मामले में कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के सवाल खड़े करने पर निशाना साधा है। मुंबई में सरकारी बैंकों के प्रमुखों के साथ बैठक के बाद मीडिया से सीतारमण ने बातचीत की। इसी दौरान उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को मौद्रीकरण के बारे में कुछ पता भी है ? यूपीए सरकार के दौरान यह योजना शुरू हुई थी। वित्त मंत्री ने कहा कि अगर राहुल को योजना पसंद नहीं, तो उन्होंने उस वक्त सरकार की इस योजना के कागज क्यों नहीं फाड़े ? उन्होंने ये सवाल भी दागा कि राहुल ने उस वक्त क्या इस वजह से मौद्रीकरण का विरोध नहीं किया कि नई दिल्ली रेलवे स्टेशन वाली योजना उनके जीजा को मिली थी ?

Finance Minister Nirmala Sitharaman

बता दें कि सोमवार को वित्त मंत्री ने 6 लाख करोड़ की सार्वजनिक संपत्तियों के मौद्रीकरण की योजना का एलान किया था। इस पर राहुल गांधी ने पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस करके सरकार पर सवाल उठाए थे। राहुल ने कहा था कि 70 साल में तैयार की गई सरकारी संपत्ति को सरकार बेच रही है। साथ ही कहा था कि कुछ चुनिंदा लोगों की संपत्ति बढ़ रही है। इस पर निर्मला सीतारमण ने ये भी कहा कि कुछ लोगों की ही संपत्ति इस दौर में बढ़ी है। क्या उन्हें पता नहीं है कि कॉमनवेल्थ गेम्स के दौरान क्या हुआ था। वित्त मंत्री ने कहा कि मौद्रीकरण में एक खास वक्त के बाद सरकार को संपत्तियां लौटा दी जाएंगी। उन्होंने कहा कि पिछले 7 साल में इस सरकार पर भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा है।

Rahul Gandhi

उधर, राहुल गांधी ने मौद्रीकरण के मसले पर बुधवार को फिर सरकार पर निशाना साधा। बुधवार को उन्होंने ‘इंडियाऑनसेल’ हैशटैग से हिंदी में ट्वीट किया, ‘पहले ईमान बेचा और अब..’ कांग्रेस ने भी इसी हैशटैग का इस्तेमाल करते हुए सरकार पर अपने उद्योगपति मित्रों के फायदे के लिए देश की संपत्तियों के दोहन का आरोप लगाया।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement
Advertisement