Haryana: ‘लव जिहाद’ में तौफीक हुआ नाकाम तो लड़की को गोली मार दी सरेआम, वीडियो हुआ वायरल

Ballabgarh: पीड़िता बीकॉम अंतिम वर्ष की छात्रा थी। इस मामले में पुलिस(Haryana Police) ने भी तेजी दिखाते हुए हत्या के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। मुख्य आरोपी का नाम तौफीक(Taufeeq) है।

Avatar Written by: October 27, 2020 12:44 pm
Haryana love angle murder

नई दिल्ली। सोमवार को हरियाणा के फरीदाबाद में कॉलेज से परीक्षा देकर बाहर निकली छात्रा की गोली मारकर हत्या कर दी गई। गोली मारने वाले आरोपी का नाम तौफीक है और वो लड़की के साथ 12वीं तक पढ़ता था। इस तरह दिनदहाड़े छात्रा की हत्या को अंजाम देकर आरोपी फरार हो गया था। जिसका वीडियो भी वायरल हो रहा है। आपको बता दें कि पुलिस ने हत्या के मुख्य आरोपी तौफीक को आज गिरफ्तार कर लिया। यह घटना तब हुई जब लड़की कल परीक्षा देकर कॉलेज से बाहर निकली ।कॉलेज के बाहर ही आरोपी और उसका दोस्त लड़की को किडनैप करने के लिए इंतजार कर रहे थे। उसे कॉलेज से बाहर निकलते देख कार में सवार बदमाश ने उसे गाड़ी में जबरदस्ती बैठाने की कोशिश की लेकिन लड़की ने बैठने से इनकार किया। जिसके बाद आरोपी ने उसे गोली मार दी और फरार हो गया।

बता दें कि पीड़िता बीकॉम अंतिम वर्ष की छात्रा थी। इस मामले में पुलिस ने भी तेजी दिखाते हुए हत्या के मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। मुख्य आरोपी का नाम तौफीक है। वो राजस्थान के मेवात का रहने वाला है। बल्लभगढ़ में हुई वारदात का वीडियो CCTV कैमरे में रिकॉर्ड हो गया था। इस वारदात को लेकर कुछ लोगों का कहना है कि ये घटना एक तरफा प्यार में असफल होने के चलते हुई है। वहीं कुछ लोग इसे लव जिहाद से जोड़कर देख रहे हैं।

Nikita Murder

फिलहाल अभी इस मामले का दूसरा आरोपी चल रहा है। तौफीक को अदालत में पेश कर पुलिस उसका रिमांड लेगी और दूसरे आरोपी के बारे में पूछताछ करेगी। छात्रा हत्याकांड में परिजनों और स्थानीय लोगों ने सोहना रोड पर मंगलवार को जाम लगाया और आरोपियों को जल्द से जल्द पकड़कर सजा देने की मांग की।

gun-shot

इससे पहले भी साल 2018 में आरोपी ने छात्रा का अपहरण कर लिया था। इस संबंध में परिवार वालों ने आरोपित के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज कराया। पुलिस ने छात्रा को उसके कब्जे से छुड़ा लिया। तब आरोपित के स्वजनों ने निकिता के स्वजनों से पैर पकड़कर माफी मांगी और आश्वासन दिया कि तौफिक फिर कभी उसे परेशान नहीं करेगा। इस आश्वासन के बाद निकिता के स्वजनों ने मामला वापस ले लिया। स्वजन अब उस घड़ी को कोस रहे हैं। अगर उस समय आरोपित को जेल भिजवा देते तो शायद यह नौबत नहीं आती।