बालिका दिवस पर हरिद्वार की सृष्टि बनेंगी उत्तराखंड की एक दिन की सीएम

अनिल कपूर की फिल्म नायक तो आपको याद ही होगी। जिसमें वो एक दिन के महाराष्ट्र के सीएम बने थे। उसी की तरह हरिद्वार की सृष्टि गोस्वामी (Srishti Goswami) आज एक दिन की सीएम के रूप में नजर आएंगी। उत्तराखंड की एक दिन की सीएम बनने के बाद वो राज्य में चल रही योजनाओं की समीक्षा करेंगी।

Avatar Written by: January 24, 2021 10:00 am
Srishti Goswami

हरिद्वार। अनिल कपूर की फिल्म नायक तो आपको याद ही होगी। जिसमें वो एक दिन के महाराष्ट्र के सीएम बने थे। उसी की तरह हरिद्वार की सृष्टि गोस्वामी (Srishti Goswami) आज एक दिन की सीएम के रूप में नजर आएंगी। उत्तराखंड की एक दिन की सीएम बनने के बाद वो राज्य में चल रही योजनाओं की समीक्षा करेंगी। आज राष्ट्रीय बालिका दिवस है इस मौके पर उन्हें राज्य की एक दिन की सीएम बनाने का फैसला लिया गया है। जिसकी मंजूरी खुद त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दी है।

Srishti Goswami3

योजनाओं की समीक्षा करेंगी

एक दिन की सीएम बनने के बाद सृष्टि उत्तराखंड में चल रही विकास कार्यों की समीक्षा करेंगी। खास बात ये है कि देश में ऐसा पहला बार होने जा रहा है जब सीएम के रहते हुए कोई और एक दिन के लिए सीएम बने। इस दौरान विधानसभा के कक्ष नंबर 120 में बाल विधानसभा आयोजित की जाएगी, जिसमें एक दर्जन विभाग अपनी प्रस्तुति देंगे।

कौन हैं सृष्टि गोस्वामी

हरिद्वार के बहादुराबाद ब्लॉक के दौलतपुर गांव में रहने वाली सृष्टि गोस्वामी रूड़की के बीएसएम पीजी कॉलेज से बीएससी एग्रीकल्चर की पढ़ाई कर रही है। उनके पिता परचून की दुकान चलाते हैं और मां गृहिणी हैं। साल 2018 में बाल विधानसभा में बाल विधायकों की ओर से उनका चयन मुख्यमंत्री के रूप में किया गया था।

Srishti Goswami

परिवार में खुशी, त्रिवेंद्र सरकार का किया शुक्रिया

सृष्टि के परिवार में खुशी का माहौल हैं। उनकी इस उपल्ब्धि पर उनके माता-पिता खुशी से फुले नहीं समा रहें। उनकी मां ने त्रिवेंद्र सरकार का शुक्रिया अदा किया है। उन्होंने कहा, ”मैं सरकार का भी बहुत-बहुत धन्यवाद करना चाहती हूं, कि उन्होंने मेरी बेटी को इस लायक समझा। सृष्टि गोस्वामी के पिता का कहना है कि यह उदाहरण है, सभी लोग इस बात से प्रेरणा लें कि जब एक बेटी इस मुकाम को हासिल कर सकती है तो और कोई क्यों नहीं। हम मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का बहुत-बहुत आभार व्यक्त करते हैं कि उन्होंने मेरी बेटी को इस लायक समझा।”

Support Newsroompost
Support Newsroompost