हरियाणा में सड़कों का जाल, खट्टर सरकार कर रही कमाल

हरियाणा सरकार के मुताबिक फाजिल्का से लेकर कोलकाता तक ग्रीन फील्ड प्रोजेक्ट हरियाणा के लिए बेहद महत्वाकांक्षी है। इससे राज्य को से काफी फायदा मिलेगा। यह ईस्ट-वेस्ट कोरिडोर का और अमृतसर कोलकाता इंडस्ट्रियल कोरिडोर का हिस्सा बन सकेगा।

Written by: July 27, 2020 6:41 pm

नई दिल्ली। हरियाणा में सड़कों का तेजी से जाल बिछाया जा रहा है। हरियाणा सरकार की कोशिश सड़कों के मामले में हरियाणा को पूरे देश में नंबर वन करने की है। केंद्र से भी हरियाणा सरकार को पूरा सहयोग मिल रहा है। केंद्र को फाजिल्का से लेकर कोलकाता तक ग्रीन फील्ड प्रोजेक्ट के लिए प्रस्ताव भेजा गया है।

manohar lal khattar

हरियाणा सरकार के मुताबिक फाजिल्का से लेकर कोलकाता तक ग्रीन फील्ड प्रोजेक्ट हरियाणा के लिए बेहद महत्वाकांक्षी है। इससे राज्य को से काफी फायदा मिलेगा। यह ईस्ट-वेस्ट कोरिडोर का और अमृतसर कोलकाता इंडस्ट्रियल कोरिडोर का हिस्सा बन सकेगा। हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने इस बाबत तेजी से प्रयास करने की बात कही।

सरकार का प्रयास है कि हरियाणा की नॉर्थ-साउथ कनेक्टिविटी को ईस्ट-वेस्ट की ओर ले जा जाया जाए। इसके लिए केंद्र को दो प्रोजेक्ट भेजे जा रहे हैं। इनमें एक प्रोजेक्ट डबवाली से लेकर वाया जींद व पानीपत से होते हुए उत्तर प्रदेश के आगरा तक तथा दूसरा हिसार से तोशाम होते हुए महेंद्रगढ़-रेवाड़ी व तावडु होते हुए केएमपी से जोड़ने का है। इससे प्रदेशवासियों को काफी फायदा मिलने वाला है।

dushyant chotala

हरियाणा देश का ऐसा पहला राज्य बन गया है जिसने 16000 करोड़ रुपये से अधिक के आठ राष्ट्रीय राजमार्ग तथा 11 सड़कों से जुड़ी बड़ी परियोजनाओं की दिशा में तेजी से कदम बढ़ाया है। प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत आठ जिलों की 83 सड़कों के लिए 383.58 करोड़ रुपये की राशि भी केंद्र सरकार से स्वीकृत करवाई है। सरकार का लक्ष्य एक हजार किलोमीटर रोड 2020 तक पूरा करने का है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost