दिल्ली : कोरोना संकट के बीच रुका डॉक्टरों का वेतन, गृह मंत्री अमित शाह से लगाई गुहार

वेतन ना मिलने को लेकर कस्तूरबा हॉस्पिटल के रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉक्टर सुनील कुमार का कहना है कि मार्च, अप्रैल और मई की सैलरी उन्हें अब तक नहीं मिली है।

Written by: June 12, 2020 9:43 am

नई दिल्ली। दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच डॉक्टरों को वेतन ना मिलने से एक और संकट खड़ा हो गया है। बता दें कि पहले कस्तूरबा अस्पताल और अब हिंदूराव अस्पताल के डॉक्टरों को पिछले तीन महीने से वेतन नहीं मिला है जिसके कारण डॉक्टरों ने हिंदूराव अस्पताल के MS को पत्र लिखकर चेताया है।

Doctors Corona

पत्र में लिखा है कि अगर डॉक्टरों को 18 जून तक वेतन नहीं दिया गया तो डॉक्टर काम करना बंद कर देंगे। दिल्ली में कोरोना महामारी की हालत को देखते हुए डॉक्टरों की ये चेतावनी डराने वाली है। वेतने को लेकर डॉक्टरों ने प्रशासन से कई बार गुहार लगाई, इसके बाद अब उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर अपनी परेशानी बताई है।

Hindu Rao Hospital

दिल्ली मेडिकल एसोसिशन ने गृह मंत्री को पत्र लिखकर हिंदू राव और कस्तूरबा हॉस्पिटल समेत एनडीएमसी के कई अस्पतालों के डॉक्टरों को वेतन न मिलने का मुद्दा उठाया है। दिल्ली मेडिकल एसोसिशन ने गृह मंत्री अमित शाह से मांग की है कि अब वो उनका वेतन दिलाने के मामले में हस्तक्षेप करें। वहीं दिल्ली हाईकोर्ट ने इस मामले में स्वत: संज्ञान लेते हुए दिल्ली सरकार, केंद्र सरकार और नगर निगम को नोटिस जारी किया है। सभी को शुक्रवार को कोर्ट में पेश होने का आदेश दिया गया है।

Corona Doctors

वेतन ना मिलने को लेकर कस्तूरबा हॉस्पिटल के रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉक्टर सुनील कुमार का कहना है कि मार्च, अप्रैल और मई की सैलरी उन्हें अब तक नहीं मिली है। कोरोना संकट की गंभीरता को समझते हुए उन्होंने कहा कि ये समय हड़ताल पर जाने का नहीं है लेकिन हमने सामूहिक इस्तीफे का निर्णय लिया है।