वायुसेना प्रमुख ने सीमा के नजदीक मिग-21 बाइसन से भरी उड़ान, चीन और पाकिस्तान को दिखाई ताकत

अधिकारियों ने कहा कि एयर चीफ मार्शल भदौरिया (IAF Chief RKS Bhadauria) ने मिग- 21 बाइसन (Mig-21 Bison) विमान में उड़ान भरने के बाद वरिष्ठ अधिकारियों के साथ अड्डे की परिचालन तैयारियों की समीक्षा की।

Avatar Written by: August 13, 2020 7:08 pm

नई दिल्ली। चीन से तनातनी के बीच भारतीय वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आर के एस भदौरिया ने आज पश्चिमी कमान में एक अग्रिम अड्डे पर मिग-21 बाइसन जेट विमान में उड़ान भरी और क्षेत्र में बल की परिचालन तैयारियों की व्यापक समीक्षा की। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। इससे पहले जब भारत और चीन के बीच चल रहा तनाव चरम पर था, तब भी वायुसेना प्रमुख भदौरिया ने लेह-लद्दाख का दौरा किया था।

RKS Bhadauria in Mig-21 Bison

वायुसेना के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया, ‘वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने गुरुवार को पश्चिमी एयर कमांड का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने बेस पर तैयारियों का जायजा लिया और सभी जवानों से बात की।’

RKS Bhadauria

वायुसेना ने पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ तीन महीने से अधिक समय से चल रहे गतिरोध के मद्देनजर पश्चिमी कमान के तहत अपने सभी अड्डों को “अति सतर्क’’ रखा है। पश्चिमी कमान के तहत संवेदनशील लद्दाख क्षेत्र के साथ-साथ उत्तर भारत के विभिन्न हिस्सों की हवाई सुरक्षा है।

RKS Bhadauria in Mig-21 Bison

अधिकारियों ने कहा कि एयर चीफ मार्शल भदौरिया ने मिग- 21 बाइसन विमान में उड़ान भरने के बाद वरिष्ठ अधिकारियों के साथ अड्डे की परिचालन तैयारियों की समीक्षा की। रूसी मूल का मिग-21 बाइसन एकल इंजन वाला सिंगल सीटर लड़ाकू विमान है जो कई दशकों तक भारतीय वायुसेना की रीढ़ था। 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में मिग- 21 ने अहम भूमिका निभाई थी।