UP: मुख्यमंत्री ने उच्चस्तरीय बैठक में अधिकारियों को जल्द व्यवस्था करने के दिए निर्देश

खासकर ग्रामीण इलाकों में स्वास्थ्य पहुंचाने पर प्रदेश सरकार का खासा जोर रहा है। इसी के मद्देनजर प्रदेश में ग्रामीण इलाकों में 5000 नए स्वास्थ्य उपकेंद्र खोले जा रहे हैं। इन नए उपकेन्द्रों पर जरूरी उपकरण, चिकित्सक व पैरामेडिकल स्टाफ की व्य वस्था् स्वास्थ्य विभाग की ओर से की जाएगी। इन स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र के खुलने के बाद ग्रामीणों को कई तरह सुविधाएं मिलने लगेंगी।

Written by: November 26, 2021 8:19 pm
cm yogi aditaynath

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के गांवों को प्राथमिक स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए ग्रामीण को भटकना न पड़े। योगी सरकार ने इसके लिए गांवों में 5000 से ज्यादा उप स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र बनवा रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इसे अभियान के तौर पर ले रहे है और इसे तेजी से पूरा कराना चाहते हैं। हाल में ही हुई उच्चस्तरीय बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को इन केंद्रों को जल्द शुरू कराने के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं करने के निर्देश दिए।
योगी सरकार के साढ़े चार साल के कार्यकाल में स्वास्थ्य व्यवस्थाएं हमेशा प्राथमिकता में रही हैं।

खासकर ग्रामीण इलाकों में स्वास्थ्य पहुंचाने पर प्रदेश सरकार का खासा जोर रहा है। इसी के मद्देनजर प्रदेश में ग्रामीण इलाकों में 5000 नए स्वास्थ्य उपकेंद्र खोले जा रहे हैं। इन नए उपकेन्द्रों पर जरूरी उपकरण, चिकित्सक व पैरामेडिकल स्टाफ की व्य वस्था् स्वास्थ्य विभाग की ओर से की जाएगी। इन स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र के खुलने के बाद ग्रामीणों को कई तरह सुविधाएं मिलने लगेंगी। केंद्रों में मातृत्व स्वास्थ्य, शिशु स्वास्थ्य, टीकाकरण, किशोर स्वास्थ्य, मधुमेह, रक्तचाप की जांच, संचारी और गैर संचारी रोग प्रबंधन और उपचार की व्यवस्था होगी।

इसके साथ ही योग और एक्सरसाइज, काउंसिलिंग, स्कूल हेल्थ एजुकेशन, आपातकालीन चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध होंगी। टीकाकरण और मातृत्व स्वास्थ्य की जांच और इलाज के अलावा मौसमी बीमारी, टीबी, मलेरिया की रोकथाम के उपाय बताने के साथ उपचार की सुविधा मिलेगी। ग्रामीण इलाके के लोगों की सेहत सुधार के लिए कई महत्वपूर्ण योजनाएं सरकार की ओर से चलाई जा रही हैं। इन नए केंद्रों के खुलने के बाद इन योजनाओं को भी गति मिलेगी।

Support Newsroompost
Support Newsroompost