वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड की श्रद्धालुओं से अपील, कहा- दर्शन करने के लिए न आएं

वैष्णो देवी की यात्रा पर आने वाले सभी तीर्थयात्रियों को यात्रा पंजीकरण काउंटर, होटल, हेलीपैड टर्मिनल पर उपलब्ध सेल्फ रिपोर्टिंग फॉर्म भरना पड़ रहा है।

Avatar Written by: March 17, 2020 8:50 pm

नई दिल्ली। कोरोनावायरस से पूरी दुनिया में कोहराम मचा हुआ है। भारत में मोदी सरकार इसके बचाव के लिए सावधानी बरतने का सुझाव दे रही है। संक्रमण से बचने के लिए ऐहतियात के तौर पर लोगों से अपील की जा रही है कि वो भीड़भाड़ वाली जगहों पर ना जाएं। इस वायरस की चपेट से लोगों को बचाने के लिए कई मंदिरों, स्मारकों और पर्यटन स्थलों को बंद कर दिया गया है।

Vaishno devi Shrine Board

इसी के चलते अब वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने श्रद्धालुओं से अपील की है कि वे दर्शन करने के लिए न आएं। बता दें कि कोरोना वायरस के कारण बने हालात को देखते हुए श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रमेश कुमार ने मंगलवार को यात्रा से जुड़े सभी पहलुओं और तीर्थ यात्रियों की सुरक्षा की समीक्षा की। कोरोना वायरस के संक्रमण के मद्देनजर सीईओ ने तीर्थयात्रियों से स्थिति के सामान्य होने तक पवित्र गुफा की तीर्थ यात्रा को स्थगित करने की अपील की है।

Vaishno Devi Shrine Board

बता दें कि वैष्णो देवी की यात्रा पर आने वाले सभी तीर्थयात्रियों को यात्रा पंजीकरण काउंटर, होटल, हेलीपैड टर्मिनल पर उपलब्ध सेल्फ रिपोर्टिंग फॉर्म भरना पड़ रहा है। इसके अलावा, श्रद्धालुओं को यात्रा के लिए आगे बढ़ने से पहले कटरा में अनिवार्य तौर पर थर्मल स्कैनिंग से गुजरना पड़ रहा है।

shrine board

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के चलते महाराष्ट्र में सिद्धि विनायक ट्रस्ट ने मंदिर को बंद करने का फैसला किया गया था। अगले फैसले तक मंदिर को बंद रखा जाएगा। महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना वायरस के चलते सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ न लगाने का निर्देश दिया था, लेकिन इसके बावजूद लोग मंदिर जा रहे थे, इसलिए ट्रस्ट ने मंदिर बंद करने का फैसला लिया।

Support Newsroompost
Support Newsroompost