जनता कर्फ्यू : सड़कों पर सन्नाटा, जरूरी सेवाएं जारी

दरअसल, कोरोनावायरस का संक्रमण इससे संक्रमित लोगों के सम्पर्क में आने से होता है इसलिए लोगों को अनावश्यक कार्यों से घरों से बाहर नहीं निकलने की सलाह दी जा रही है।

Written by: March 22, 2020 10:39 am

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली और आसपास के इलाकों में रवविार को जनता कर्फ्यू के अवसर पर सड़कों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। कोरोनावायरस के कहर से बचने के उपायों के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र के आह्वान पर सुबह सात बजे से देशभर में जनता कर्फ्यू लगा हुआ है, जिसके कारण लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकल रहे हैं। जरूरी सेवाएं हालांकि बहाल हैं।

Janta Curfew Delhi

यह जनता कर्फ्यू इसलिए है कि इसे जनता के लिए जनता द्वारा खुद पर लगाया गया कर्फ्यरू है जिसमें लोगों ने प्रधानमंत्री की अपील पर खुदको अपने घरों में बंद कर रखा है। प्रधानमंत्री ने बीते गुरूवार को देशवासियों को संबोधित करते हुए रविवार को सात बजे से लेकर रात नौ बजे तक जनता कर्फ्यू लगाने की अपील की थी।

हालांकि इस जनता कर्फ्यू के दौरान दिल्ली-एनसीआर में दूध, दवाई जैसी जरूरियात की वस्तुओं की दुकानें जगह-जगह खुली हुई हैं, लेकिन सड़कों के किनारे पटरियों पर सब्जी की दुकानें कहीं नहीं सजी हैं।

delhi police
जनता कर्फ्यू के दौरान दिल्ली मेट्रो, रेलसेवा समेत सभी सार्वजनिक परिवहन सेवा बंद है, लेकिन चिकित्सा सेवा, अग्निशमन सेवा समेत अन्य आवश्यक सेवाएं उपलब्ध हैं। प्रधानमंत्री के आह्वान पर लागू जनता कर्फ्यू की तैयारी लोगों ने एक दिन पहले से ही कर ली थी।

एक दिन पहले, शनिवार को भी सड़कों पर वाहनों की तादाद बहुत कम थी और सब्जियों, दूध, दवाई जैसी आवश्यक वस्तुओं को छोड़ अन्य वस्तुओं की ज्यादातर दुकानें बंद थीं।

एनसीआर सड़कों पर जहां देर रात तक लोगों की आवाजाही आमतौर पर बनी रहती हैं वहां शनिवार की रात से ही सन्नाटा पसरा हुआ है।

नोएडा में पटरियों पर सब्जी बेचने वाली बुचनी शनिवार को अपने ग्राहकों से कह रही थी कि वे कम से कम दो दिनों की सब्जी रखीद लें क्योंकि अगले दो दिनों तक वह सब्जी नहीं बेचेंगी।

चीन से पैदा हुआ कोरोनावायरस (कोविड-19) दुनियाभर में कहर बरपा रहा है और भारत में भी लगातार इसके मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है, लिहाजा एहतियात के तौर पर लोगों को सामाजिक संपर्क से दूरी बनाने की सलाह दी जा रही है।

Coronavirus
दरअसल, कोरोनावायरस का संक्रमण इससे संक्रमित लोगों के सम्पर्क में आने से होता है इसलिए लोगों को अनावश्यक कार्यों से घरों से बाहर नहीं निकलने की सलाह दी जा रही है। भारत में कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 300 से ज्यादा हो चुकी हैं और अब तक इस वायरस ने देश में चार लोगों की जान ले ली है।