Connect with us

देश

Haryana: राशन के साथ तिरंगा खरीदने का दबाव बनाने वाले करनाल के डिपो धारक पर एक्शन, हुआ निलंबित

Haryana: उपायुक्त ने साफ किया कि सरकार ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि पीडीएस सेंटर पर मिलने वाले तिरंगे केवल जनता की सुविधा के लिए हैं ताकि जिन्हें झंडा लेना हैं उन्हें गांव में ही यह मिल जाए और उन्हें कहीं दूर ना जाना पड़े। उन्होंने कहा कि झंडा लेने के लिए किसी को विवश नहीं किया जा सकता। स्वेच्छा से कोई भी यहां से तिरंगा ले सकता है। उन्होंने कहा कि 15 अगस्त के बाद जितने झंडे बचेंगे वो भी वापस हो जाएंगे।

Published

नई दिल्ली। हरियाणा के करनाल जिले के हेमदा गांव में बिना तिरंगा लिए राशन नहीं देने के मामले में जिला खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले नियंत्रक द्वारा डिपो धारक के खिलाफ कार्रवाई की है। उपायुक्त अनीश यादव ने बताया कि डिपो धारक की राशन की मासिक सप्लाई तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दी गई है। यह कार्रवाई PDS कंट्रोल आर्डर-2009 के तहत की गई है। उन्होंने कहा कि गांव दादुपुर के साथ अटैच चिडाव हेमदा का डिपोधारक दिनेश कुमार राशनकार्ड धारकों को जबरदस्ती झंडे दे रहा था और विभाग और सरकार को बदनाम कर रहा था। डिपो धारक ने अपनी मनमर्जी से सरकार और विभाग की छवि धूमिल करने की कोशिश की है। प्रशासन के संज्ञान में मामला आने के बाद जिला खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले नियंत्रक, करनाल द्वारा इस मामले में कार्रवाई की गई है।

INDIAN FLAG 3X2 COMPRESSED

उपायुक्त ने साफ किया कि सरकार ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि पीडीएस सेंटर पर मिलने वाले तिरंगे केवल जनता की सुविधा के लिए हैं ताकि जिन्हें झंडा लेना हैं। उन्हें गांव में ही यह मिल जाए और उन्हें कहीं दूर ना जाना पड़े। उन्होंने कहा कि झंडा लेने के लिए किसी को विवश नहीं किया जा सकता। स्वेच्छा से कोई भी यहां से तिरंगा ले सकता है। उन्होंने कहा कि 15 अगस्त के बाद जितने झंडे बचेंगे वो भी वापस हो जाएंगे।

आपको बता दें कि पीएम मोदी की अगुवाई में अमृत महोत्सव के अंतर्गत आगामी 13 से 15 अगस्त तक मनाए जाने वाले घर तिरंगा अभियान के तहत में 20 करोड़ झंडा फहराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इस विराट अभियान के तहत 100 करोड़ की आबादी को कवर किया जाएगा। इसी कड़ी में हरियाणा में तकरीबन 60 लाख घरों में तिरंगा फहराया जाएगा।

Advertisement
Advertisement
Advertisement