खुद क्षत्रिय से बना था मुसलमान, बताता है पूर्व PM का भतीजा, जानिए धर्मांतरण के आरोपी उमर गौतम की कहानी

Umar Gautam: उमर उर्फ श्याम प्रताप सिंह कुल 6 भाई है, जिसमें पहला भाई उदय राज प्रताप सिंह, दूसरा भाई उदय प्रताप सिंह, तीसरा भाई उदय नाथ सिंह, चौथा उमर उर्फ़ श्याम प्रताप सिंह, पांचवा श्रीनाथ सिंह व छठवें नंबर के स्वर्गीय ध्रुव प्रताप सिंह थे।

Umar Gautam

नई दिल्ली। सोमवार को उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) एटीएस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी। जिसमें यूपी एटीएस ने धर्मांतरण कराने वाले रैकेट का भंडाफोड़ किया। इस मामले में 2 मौलाना को यूपी ATS ने धर दबोचा है। इसकी जानकारी यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने मीडिया को संबोधित करते हुए दी। जिसमें उन्होंने बताया कि, गिरफ्तार किए गए आरोपियों की पहचान मुफ्ती काजी जहांगीर, मोहम्मद उमर गौतम के तौर पर हुई है। दोनों दिल्ली के जामिया नगर के रहने वाले है। वहीं उमर गौतम को लेकर दिलचस्प जानकारी सामने आई है। बता दें कि उमर गौतम खुद पहले क्षत्रिय था, बाद में वो मुसलमान बन गया। बता दें कि इस रैकेट में पकड़े गए दोनों मौलानाओं को लेकर जानकारी मिली है कि इन्होंने एक हजार से अधिक लोगों का धर्म परिवर्तन कराया था। उमर गौतम (Umar Gautam) मूल रूप से फतेहपुर जिले के थरियांव थाना क्षेत्र के पंथुआ गांव का रहने वाला है।

UP ATS

इसकी गिरफ्तारी की खबर के बाद उसके पैतृक गांव में सभी चौंक गए, और उसके घर भीड़ लग गयी। लोग तरह-तरह की चर्चाएं कर रहे थे। इसी बीच थरियांव पुलिस भी उमर गौतम के घर पहुंची और उसके चचेरे भाइयों से पूछताछ कर छानबीन शुरू कर दी है। मुसलमान बनने से पहले उमर का नाम श्याम प्रताप सिंह था। उसके चचेरे भाई राजू सिंह ने बताया कि उमर ने गांव में ही हाई स्कूल तक की पढ़ाई की थी। इसके बाद वह आगे पढ़ने के लिए साल 1979 में फ़तेहपुर शहर छोड़कर नैनीताल के पंतनगर चला गया था।

राजू सिंह ने बताया कि, वहां से श्याम प्रताप सिंह सालों बाद लौटा तो दिल्ली में रहने लगा। साल 1982 में उमर वापस अपने पैतृक गांव पंथुआ आया और गाजीपुर थाना क्षेत्र के खेसहन गांव में छत्रपाल सिंह की बेटी राजेश कुमारी से शादी की। शादी के कुछ दिन बाद ही पत्नी को लेकर वह वापस दिल्ली चला गया। एक साल बीतने के बाद जब उमर गौतम उर्फ श्याम प्रताप सिंह द्वारा धर्म परिवर्तन करने की जानकारी उसके परिवार वालों को हुई तो वह उससे बहुत नाराज हुए। यहां तक उससे पूरा राजपूत समाज काफी नाराज था। हालांकि गांव में उससे कोई खास मतलब नहीं रखता था लेकिन फिर वह 2 साल में एकाध बार गांव आता-जाता रहता था।

Umar Gautam PIC

इतना ही नहीं उमर गौतम के एक संदिग्ध ट्विटर अकाउंट की जानकारी सामने आई है। जिसके मुताबिक उसने खुद को देश के पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय वीपी सिंह का भतीजा लिखा है। साथ ही 20 साल पहले इस्लाम कबूल करने की बात भी कही है। उमर उर्फ श्याम प्रताप सिंह कुल 6 भाई है, जिसमें पहला भाई उदय राज प्रताप सिंह, दूसरा भाई उदय प्रताप सिंह, तीसरा भाई उदय नाथ सिंह, चौथा उमर उर्फ़ श्याम प्रताप सिंह, पांचवा श्रीनाथ सिंह व छठवें नंबर के स्वर्गीय ध्रुव प्रताप सिंह थे।

Support Newsroompost
Support Newsroompost