Lala Lajpat Rai Birth Anniversary: लाला लाजपत राय का 156वां जन्मदिन आज, पीएम मोदी समेत इन दिग्गजों ने दी श्रद्धांजलि

भारत के महान स्वतंत्रता सेनानी लाल लाजपत राय (Lala Lajpat Rai Birth Anniversary) का आज 156वां जन्मदिन है। उनका जन्म 28 जनवरी 1865 को पंजाब के मोगा जिले के ढुडीके में हुआ था। 17 नवंबर 1928 को दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया।

Avatar Written by: January 28, 2021 9:44 am
lala lajpat rai

नई दिल्ली। भारत के महान स्वतंत्रता सेनानी लाल लाजपत राय (Lala Lajpat Rai Birth Anniversary) का आज 156वां जन्मदिन है। उनका जन्म 28 जनवरी 1865 को पंजाब के मोगा जिले के ढुडीके में हुआ था। 17 नवंबर 1928 को दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया। उनकी जयंती पर पीएम मोदी समेत कई दिग्गज नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है।

PM Narendra Modi
देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाला लाजपत राय की जयंती पर श्रद्धांजलि देते हुए ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, ”मां भारती के वीर सपूत पंजाब केसरी लाला लाजपत राय को उनकी जयंती पर शत-शत नमन। देश की आजादी के लिए प्राण न्योछावर करने की उनकी गाथा देशवासियों को सदैव प्रेरित करती रहेगी।”

देश के उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू ने भी लाला लाजपत राय को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने लिखा, ”पंजाब केसरी लाला लाजपत राय जी की जन्म जयंती के अवसर पर उनकी पुण्य स्मृति को सादर प्रणाम करता हूं। लाला जी समाज सुधारक, लेखक और राष्ट्र निष्ठ व्यवसायी थे जिन्होंने समाज कल्याण और राष्ट्रवादी अर्थव्यव्स्था हेतु पंजाब नेशनल बैंक जैसी संस्थाओं की स्थापना की। बाल, पाल, लाल की त्रिमूर्ति ने देश के स्वाधीनता आंदोलन को नई दिशा दी। साइमन कमीशन के विरुद्ध अभियान में लाला जी पर हुए अत्याचार ने देश के युवाओं में क्रांति की मशाल प्रज्वलित की।”

देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी लाला लाजपत राय को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने लिखा, ”मैं महान स्वतंत्रता सेनानी और सच्चे राष्ट्रवादी, लाला लाजपत राय को उनकी जयंती पर नमन करता हूं। भारत के स्वतंत्रता संग्राम में अपार योगदान के लिए राष्ट्र एक असाधारण नेता और संरक्षक, लालाजी को हार्दिक श्रद्धांजलि अर्पित करता है।”

कांग्रेस पार्टी ने भी लाला लाजपत राय को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने लिखा, ”जो सरकार अपने ही निर्दोष विषयों पर हमला करती है, उसका सभ्य सरकार कहलाने का कोई दावा नहीं है। ध्यान रखें, ऐसी सरकार लंबे समय तक जीवित नहीं रहती है।”

Support Newsroompost
Support Newsroompost