राम मंदिर भूमि पूजन: अयोध्या में रचा गया इतिहास, PM मोदी ने इस अवसर पर कहा- शक्तिशाली भारत ही समृद्ध और शांत भारत बनेगा

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज राम मंदिर प्रांगण में एक पौधा लगाएंगे। इसके लिए अलग से फावड़ा, कन्नी और अन्य सामानों की व्यवस्था की गई है।

Avatar Written by: August 5, 2020 9:28 am

नई दिल्ली। जिस घड़ी का इंतजार करोड़ों देशवासियों को काफी अरसे से था आखिर वो घड़ी आ ही गई। बरसों बाद अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण होने के लिए भूमि पूजन आज पीएम मोदी के हाथों हुआ। इसके लिए पीएम मोदी आज दिल्ली से अयोध्या के लिए रवाना हुए। भूमि पूजन कार्यक्रम के लिए अयोध्या को पीले रंग में रंग दिया गया। चारों तरफ भूमि पूजन को लेकर होर्डिंग्स भी लगाई गई।

Modi Ram janmsthal pooja

इस भूमि पूजन में शामिल होने से पहले पीएम मोदी हनुमान गढ़ी में दर्शन किया। हनुमानगढ़ी मंदिर के प्रमुख पुजारी प्रेमदास जी महाराज का कहना है कि प्रधानमंत्री का अयोध्या आना ऐतिहासिक क्षण है, हमने उन्हें सम्मानित करते हुए चांदी का मुकुट और गमछा दिया।

Narendra Modi with parijat tree

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज राम मंदिर प्रांगण में एक पौधा लगाया। इसके लिए अलग से फावड़ा, कन्नी और अन्य सामानों की व्यवस्था की गई थी।

लाइव अपडेट:

पीएम मोदी का संबोधन

पीएम मोदी ने यहां अपने संबोधन में कहा कि हमें आपसी प्रेम-भाईचारे के संदेश से राम मंदिर की शिलाओं को जोड़ना है, जब-जब राम को माना है विकास हुआ है जब भी हम भटके हैं विनाश हुआ है। सभी की भावनाओं का ध्यान रखना है, सबके साथ से और विश्वास से ही सबका विकास करना है। कोरोना के कारण जैसे हालात हैं, राम के द्वारा दिया गया मर्यादा का रास्ता जरूरी है।

पीएम मोदी बोले कि अयोध्या में बनने वाला राम मंदिर भारतीय संस्कृति का दर्शन देगा, अनंतकाल तक मानवता को प्रेरणा देगा। पीएम मोदी ने यहां कहा कि सबके राम, सबमें राम और जय सिया राम. देश में जहां भी प्रभु राम के चरण पड़े हैं, वहां पर राम सर्किट का निर्माण किया जा रहा है। पीएम ने बताया कि शास्त्रों में कहा गया है कि पूरी पृथ्वी पर श्रीराम जैसा कोई शासक हुआ ही नहीं है, कोई भी दुखी ना हो कोई भी गरीब ना हो। नर और नारी समान रुप से सुखी हों। पीएम मोदी ने कहा कि राम का आदेश है कि बच्चों, बुजुर्ग और वैद्यों की रक्षा करनी चाहिए, जो हमें कोरोना ने भी सिखा दिया है। साथ ही अपनी मातृभूमि स्वर्ग से भी बढ़कर होती है। हमारा देश जितना ताकतवर होगा, उतनी ही शांति भी बनी रहेगी। राम की यही नीति और रीति सदियों से भारत का मार्ग दर्शन करती रही है, महात्मा गांधी ने रामराज्य का सपना देखा था। राम समय, स्थान और परिस्थितियों के हिसाब से बोलते और सोचते हैं। राम परिवर्तन-आधुनिकता के पक्षधर हैं।

PM Narendra Modi

पीएम मोदी बोले कि अयोध्या में बनने वाला राम मंदिर भारतीय संस्कृति का दर्शन देगा, अनंतकाल तक मानवता को प्रेरणा देगा। पीएम मोदी ने यहां कहा कि सबके राम, सबमें राम और जय सिया राम। देश में जहां भी प्रभु राम के चरण पड़े हैं, वहां पर राम सर्किट का निर्माण किया जा रहा है। पीएम ने बताया कि शास्त्रों में कहा गया है कि पूरी पृथ्वी पर श्रीराम जैसा कोई शासक हुआ ही नहीं है, कोई भी दुखी ना हो कोई भी गरीब ना हो। नर और नारी समान रुप से सुखी हों।

जीवन का ऐसा कोई पहलू नहीं है, जहां हमारे राम प्रेरणा न देते हों। भारत की ऐसी कोई भावना नहीं है जिसमें प्रभु राम झलकते न हों। भारत की आस्था में राम हैं, भारत के आदर्शों में राम हैं, भारत की दिव्यता में राम हैं, भारत के दर्शन में राम हैं: पीएम मोदी

श्रीराम का अद्भुत व्यक्तित्व, उनकी वीरता, उनकी उदारता, उनकी सत्यनिष्ठा, उनकी निर्भीकता, उनका धैर्य, उनकी दृढ़ता, उनकी दार्शनिक दृष्टि युगों-युगों तक प्रेरित करते रहेंगे: पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि राम हर जगह हैं, भारत के दर्शन-आस्था-आदर्श-दिव्यता में राम ही हैं। तुलसी के राम सगुण राम हैं, नानक-तुलसी के राम निर्गुण राम हैं। भगवान बुद्ध-जैन धर्म भी राम से जुड़े हैं। तमिल में कंभ रामायण है, तेलुगु, कन्नड़, कश्मीर समेत हर अलग-अलग हिस्से में राम को समझने के अलग-अलग रुप है। पीएम मोदी ने कहा कि राम सब जगह हैं, राम सभी में हैं। विश्व की सबसे अधिक मुस्लिम जनसंख्या इंडोनेशिया में है, वहां पर भी रामायण का पाठ होता है। पीएम ने बताया कि कंबोडिया, श्रीलंका, चीन, ईरान, नेपाल समेत दुनिया के कई देशों में राम का नाम लिया जाता है।

आज देश के लोगों के सहयोग से राम मंदिर का निर्माण कार्य शुरू हुआ है, जैसे पत्थर पर श्रीराम लिखकर रामसेतु बना, वैसे ही घर-घर से आई शिलाएं श्रद्धा का स्त्रोत बन गई हैं। ये न भूतो-न भविष्यति है। पीएम मोदी ने कहा कि भारत की ये शक्ति पूरी दुनिया के लिए अध्ययन का विषय है।

श्रीराम ने सामाजिक समरसता को अपने शासन का आधार बनाया था। उन्होंने गुरु वशिष्ठ से ज्ञान, केवट से प्रेम, शबरी से मातृत्व, हनुमानजी एवं वनवासी बंधुओं से सहयोग और प्रजा से विश्वास प्राप्त किया। यहां तक कि एक गिलहरी की महत्ता को भी उन्होंने सहर्ष स्वीकार किया: पीएम मोदी

श्रीरामचंद्र को तेज में सूर्य के समान, क्षमा में पृथ्वी के तुल्य, बुद्धि में बृहस्पति के सदृश्य और यश में इंद्र के समान माना गया है। श्रीराम का चरित्र सबसे अधिक जिस केंद्र बिंदु पर घूमता है, वो है सत्य पर अडिग रहना। इसलिए ही श्रीराम संपूर्ण हैं: पीएम मोदी

देश भर के धामों और मंदिरों से लाई गई मिट्टी और नदियों का जल, वहां के लोगों, वहां की संस्कृति और वहां की भावनाएं, आज यहां की शक्ति बन गई हैं। वाकई ये न भूतो न भविष्यति है: पीएम मोदी

Narendra Modi Ayodhya

आज भूमि पूजन का कार्यक्रम अनेक मर्यादाओं के बीच हो रहा है। श्रीराम के काम में मर्यादा का जैसे उदाहरण प्रस्तुत किया जाना चाहिए, वैसा ही उदाहरण देश ने पेश किया है। ये उदाहरण तब भी पेश किया गया था, जब उच्चतम न्यायालय ने अपना फैसला सुनाया था: पीएम मोदी

आज का ये दिन करोड़ों रामभक्तों के संकल्प की सत्यता का प्रमाण है। आज का ये दिन सत्य, अहिंसा, आस्था और बलिदान को न्यायप्रिय भारत की एक अनुपम भेंट है: पीएम मोदी

राममंदिर के निर्माण की ये प्रक्रिया, राष्ट्र को जोडऩे का उपक्रम है। ये महोत्सव है-

विश्वास को विद्यमान से जोड़ने का।

नर को नारायण से जोड़ने का।

लोक को आस्था से जोड़ने का।

वर्तमान को अतीत से जोड़ने का।

और स्वयं को संस्कार से जोड़ने का।

– पीएम मोदी

श्रीराम का मंदिर हमारी संस्कृति का आधुनिक प्रतीक बनेगा। हमारी शाश्वत आस्था का प्रतीक बनेगा, राष्ट्रीय भावना का प्रतीक बनेगा। ये मंदिर करोड़ों-करोड़ों लोगों की सामूहिक शक्ति का भी प्रतीक बनेगा: पीएम मोदी

Narendra Modi Ayodhya

भगवान राम की अद्भुत शक्ति देखिए। इमारतें नष्ट कर दी गईं, अस्तित्व मिटाने का प्रयास भी बहुत हुआ, लेकिन राम आज भी हमारे मन में बसे हैं, हमारी संस्कृति का आधार हैं। श्रीराम भारत की मर्यादा हैं, श्रीराम मर्यादा पुरुषोत्तम हैं: पीएम मोदी

राम हमारे मन में गढ़े हुए हैं, हमारे भीतर घुल-मिल गए हैं। कोई काम करना हो, तो प्रेरणा के लिए हम भगवान राम की ओर ही देखते हैं: पीएम मोदी

राम मंदिर के लिए चले आंदोलन में अर्पण भी था ,तर्पण भी था, संघर्ष भी था, संकल्प भी था। जिनके त्याग, बलिदान और संघर्ष से आज ये स्वप्न साकार हो रहा है, जिनकी तपस्या राममंदिर में नींव की तरह जुड़ी हुई है, मैं उन सबको आज 130 करोड़ देशवासियों की तरफ से नमन करता हूं: पीएम

हमारे स्वतंत्रता आंदोलन के समय कई-कई पीढ़ियों ने अपना सब कुछ समर्पित कर दिया था। गुलामी के कालखंड में कोई ऐसा समय नहीं था जब आजादी के लिए आंदोलन न चला हो, देश का कोई भूभाग ऐसा नहीं था जहां आजादी के लिए बलिदान न दिया गया हो: पीएम मोदी

PM Narendra Modi

बरसों से टाट और टेंट के नीचे रह रहे हमारे रामलला के लिए अब एक भव्य मंदिर का निर्माण होगा। टूटना और फिर उठ खड़ा होना, सदियों से चल रहे इस व्यतिक्रम से रामजन्मभूमि आज मुक्त हो गई है। पूरा देश रोमांचित है, हर मन दीपमय है। सदियों का इंतजार आज समाप्त हो रहा है: पीएम मोदी

ये मेरा सौभाग्य है कि श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने मुझे आमंत्रित किया, इस ऐतिहासिक पल का साक्षी बनने का अवसर दिया। मैं इसके लिए हृदय पूर्वक श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का आभार व्यक्त करता हूं: पीएम मोदी

आज श्रीराम का यह जयघोष सिर्फ सिया-राम की धरती में ही नहीं सुनाई दे रहा, इसकी गूंज पूरे विश्व में है। सभी देशवासियों को, विश्व में फैले करोड़ों राम भक्तों को आज के इस सुअवसर पर कोटि-कोटि बधाई: पीएम मोदी


– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां राम मंदिर के शिलापट जारी किया, इसके अलावा डाकटिकट जारी किया। पीएम मोदी को यहां भगवान राम की मूर्ति भेंट की गई।

Ram Mandir Silalekh

– राम जन्मभूमि ट्रस्ट के प्रमुख महंत नृत्यगोपाल दास ने कहा कि लोग हमसे पूछते कि मंदिर कब बनेगा? हमने कहा था जब एक ओर मोदी है और दूसरी ओर योगी है, तो अब नहीं बनेगा तो कब बनेगा। अब लोगों को तन-मन-धन से मंदिर निर्माण में जुटना चाहिए और काम को आगे बढ़ाना चाहिए। दुनिया में रह रहे हर हिन्दू की यही इच्छा थी। मंदिर का निर्माण एक नए भारत का निर्माण है, इसे जल्द से जल्द पूरा किया जाना चाहिए।

Nritya Gopal Das

– कार्यक्रम में संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि आज आनंद का क्षण है, एक संकल्प लिया था। तब के संघप्रमुख देवव्रत जी ने कहा था कि 20-30 साल काम करना होगा, तब ये काम करना होगा। आज 30वें साल की शुरुआत में काम शुरू हुआ है। कई लोग महामारी के कारण नहीं आ पाए, लालकृष्ण आडवाणी जी भी नहीं आ पाए हैं। देश में अब आत्मनिर्भर बनाने की ओर काम जारी है, आज महामारी के बाद पूरा विश्व नए रास्तों को ढूंढ रहा है। जैसे-जैसे मंदिर बनेगा, राम की अयोध्या भी बननी चाहिए। हमारे मन में जो मंदिर बनना चाहिए और कपट को छोड़ना चाहिए।

Mohan Bhagwat

– भूमि पूजन के कार्यक्रम के बाद संबोधन किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पांच सदी के बाद आज 135 करोड़ भारतवासियों का संकल्प पूरा हो रहा है। देश में लोकतांत्रिक तरीकों के साथ ही मंदिर का निर्माण किया जा रहा है।  इस घड़ी की प्रतीक्षा में कई पीढ़ियां गुजर चुकी हैं. सीएम योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सूझबूझ और प्रयासों के कारण आज संकल्प पूरा हो रहा है। हमने तीन साल पहले अयोध्या में दीपोत्सव का कार्यक्रम शुरू किया था, आज उसकी सिद्धी हो रही है।

CM Yogi Adityanath

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर की आधारशिला रख दी है। भूमि पूजन की सभी प्रक्रिया करने के बाद प्रधानमंत्री ने शुभ मुहूर्त के वक्त शिला रखी। प्रधानमंत्री ने शिला रखकर वहां भूमि पर प्रणाम किया। पीएम मोदी ने ठीक 12.44.08 बजे शिला रखी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर की आधारशिला रख दी है। भूमि पूजन की सभी प्रक्रिया करने के बाद प्रधानमंत्री ने शुभ मुहूर्त के वक्त शिला रखी।

Modi After bhumi poojan

राम मंदिर का भूमि पूजन जारी है, भूमि पूजन का शुभ मुहूर्त 12.44.08 मिनट पर है। उससे पहले ही बाकी सभी प्रक्रिया पूरी की जा रही हैं। पूजा के दौरान 9 शिलाओं का अनुष्ठान किया गया, इसके अलावा भगवान राम की कुलदेवी काली माता की भी पूजी की गई।

राम मंदिर का भूमि पूजन जारी है, भूमि पूजन का शुभ मुहूर्त 12.44.08 मिनट पर है। उससे पहले ही बाकी सभी प्रक्रिया पूरी की जा रही हैं।

पूजा करने वाले संत ने बताया कि देश और दुनिया के अलग-अलग हिस्सों से शिलाएं लाई गई हैं, जिनपर श्रीराम का नाम लिखा है। इसी के साथ ही अब भूमि पूजन का काम शुरू हो गया है, पीएम मोदी के नाम पर शिलाएं रखी जा रही हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस वक्त राम मंदिर भूमि पूजन के अनुष्ठान में हिस्सा ले रहे हैं और पूजा की सभी विधियां पूरी कर रहे है। RSS प्रमुख मोहन भागवत, यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ भी मौजूद हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर भूमि पूजन स्थल पर पहुंच गए हैं। भूमि पूजन का कार्यक्रम शुरू हो गया है। पीएम के साथ योगी आदित्यनाथ, मोहन भागवत, आनंदी बेन पटेल मौजूद हैं।

pm modi pranam to ram

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रामजन्मभूमि स्थल पर भगवान राम को साष्टांग प्रणाम किया और पूजा अर्चना की

modi ram janmbhumi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हनुमानगढ़ी मंदिर में पूजा की, उन्हें यहां पर पगड़ी पहनाई गई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या के हनुमानगढ़ी मंदिर पहुंच गए हैं। पीएम यहां पर पूजा करेंगे, जिसके बाद भूमि पूजन स्थल जाएंगे। रामलला के दर्शन से पहले हनुमानगढ़ी मंदिर में पूजा करने की आस्था है।

Modi Ayodhya Yogi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या पहुंच गए हैं। हेलिपेड से पीएम मोदी सीधे हनुमानगढ़ी मंदिर जाएंगे। वहां पर पूजा करने के बाद भूमि पूजन स्थल के लिए रवाना होंगे।

Ram Janmbhumi pujan

अयोध्या में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत भूमिपूजन के लिए राम जन्मभूमि स्थल पहुंचे हैं। समारोह में मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, राम मंदिर ट्रस्ट के प्रमुख नृत्य गोपाल दास, यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और CM योगी आदित्यनाथ मौजूद रहेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लखनऊ पहुंच गए हैं और यहां से अयोध्या के लिए रवाना होंगे।

बाबरी मस्जिद के पक्षकार रह चुके इकबाल अंसारी भी अयोध्या के भूमि पूजन स्थल पर पहुंच चुके हैं। वो पीएम मोदी का स्वागत करेंगे और रामचरितमानस भेंट करेंगे। साधवी ऋतंभरा, स्वामी रामदेव समेत कई अन्य मेहमान भी भूमि पूजन स्थल पर पहुंच गए हैं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या पहुंच चुके हैं। अब से कुछ देर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी यहां पर पहुंचेंगे। अयोध्या में पूजा शुरू हो गई है, सुबह ही रामलला के दर्शन भी कराए गए हैं। राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, उमा भारती समेत अन्य कई अहम मेहमान अयोध्या में भूमि पूजन स्थल पर पहुंच चुके हैं।

बीजेपी प्रवक्ता राम माधव ने कहा कि, “आज का दिन 130 करोड़ देशवासियों के लिए आनंद का दिन होना चाहिए। जहां भगवान राम का जन्म हुआ था वहां भव्य मंदिर बनने जा रहा है, राम ​इस देश के मूल्य और विरासत का प्रतीक हैं। इस देश में रहने वाले हर भारतवासी के लिए राम आदर्श पुरुष”

Ram Madhav, BJP

राममंदिर भूमिपूजन समारोह में हिस्सा लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या के लिए रवाना हुए। सामने आई फोटो में पीएम मोदी भारतीय परिधान में नजर आ रहे हैं। वे कुर्ता और धोती पहने हुए हैं।

भूमि पूजन से पहले रामलला की तस्वीर सामने आई है।  श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ये तस्वीर शेयर की है। ट्वीट के साथ लिखा है, ‘श्री राम जन्मभूमि पर अनुजों सहित विराजमान भगवान श्री रामलला जी के आज प्रातः काल के दिव्य दर्शन।’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सुबह 11.30 बजे अयोध्या पहुंचेंगे। भूमि पूजन का शुभ मुहूर्त 12.44 बजे है। इसके लिए सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। राम जन्मभूमि परिसर और आसपास के इलाके को रेड जोन घोषित कर दिया गया है। राम जन्मभूमि परिसर में सुरक्षा व्यवस्था की कमान एसपीजी ने संभाल ली है। सुरक्षा के लिहाज से सेक्यूरिटी कोड से एंट्री का प्रबंध किया गया है।