NCP नेता माजिद मेमन के बिगड़े बोल, कहा मौत के बाद मोदी-ट्रंप से भी ज्यादा लोकप्रिय हो गए सुशांत

एनसीपी नेता माजिद मेमन ने बुधवार को कहा कि सुशांत सिंह राजपूत को उनकी मौत के बाद उनकी जिंदगी से कहीं ज्यादा पॉपुलैरिटी मिल रही है। मेमन ने मीडिया में अभिनेता सुशांत सिंह की मौत पर उठाए जा रहे मुद्दों को लेकर सवाल खड़ा किया है।

Avatar Written by: August 12, 2020 5:22 pm

नई दिल्ली। बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) नेता माजिद मेमन ने विवादित बयान दिया है।दरअसल एनसीपी नेता माजिद मेमन ने बुधवार को कहा कि सुशांत सिंह राजपूत को उनकी मौत के बाद उनकी जिंदगी से कहीं ज्यादा पॉपुलैरिटी मिल रही है। मेमन ने मीडिया में अभिनेता सुशांत सिंह की मौत पर उठाए जा रहे मुद्दों को लेकर सवाल खड़ा किया है।

Sushant Singh and Majeed Mamon

मरने के बाद हुए ज्यादा पॉपुलर, अब पीएम से भी ज्यादा मिल रही तवज्जो : मेमन

एनसीपी नेता माजिद मेमन ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘सुशांत अपनी जिंदगी में उतने मशहूर नहीं थे, जितनी मौत के बाद हो गए हैं। मीडिया में उन्हें जितनी जगह मिल रही है, उतनी तो हमारे प्रधानमंत्री या फिर अमेरिका के राष्ट्रपति को भी नहीं मिलती होगी।’

Majeed Memon

एक अन्य ट्वीट में पूर्व राज्यसभा सदस्य माजिद मेमन ने, ‘जब कोई अपराध जांच चरण में होता है, तो गोपनीयता को बनाए रखना पड़ता है। महत्वपूर्ण साक्ष्य एकत्र करने की प्रक्रिया में उठाए जा रहे हर कदम को सार्वजनिक करना सच्चाई और न्याय के हित पर प्रतिकूल प्रभाव डालता है।’

Majeed Memon Tweet

अपने ट्वीट पर मिली नकारात्मक प्रतिक्रिया को देख मेमन ने कहा, “सुशांत पर मेरे ट्वीट पर काफी हो- हल्ला हो रहा है। क्या इसका मतलब ये है कि सुशांत अपने जीवनकाल के दौरान प्रसिद्ध नहीं थे या उन्हें न्याय नहीं मिलना चाहिए? ऐसा बिल्कुल नहीं है। गलत अनुमान को दरकिनार किया जाना चाहिए। ट्वीट का मतलब किसी का अपमान करना नहीं है।”

पार्टी को देनी पड़ी सफाई

उनके इस बयान पर विरोध उठने के बाद एनसीपी प्रवक्ता नवाब मलिक ने सफाई दी है। उन्होंने कहा कि माजिद मेमन का बयान उनका निजी बयान है और पार्टी का इससे कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा, ‘माजिद मेमन की ओर से ट्विटर पर दी गई टिप्पणी उनकी निजी टिप्पणी है, एनसीपी की नहीं। हमारी पार्टी उनके इस बयान को किसी भी तरह बढ़ावा या समर्थन नहीं देती है। सभी लोग इस बात पर भी ध्यान दें कि वो एनसीपी के प्रवक्ता नहीं हैं।’

बता दें कि 14 जून को मुंबई के बांद्रा स्थित फ्लैट से सुशांत शव बरामद किया गया था। पुलिस ने उसकी मौत को आत्महत्या बताया है, लेकिन बाद में दिवंगत अभिनेता के परिवार ने एफआईआर दर्ज कराई और सुशांत की गर्लफ्रेंड और उसके परिवार पर आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया।