Mamta Banerjee : ‘ममता दीदी में PM बनने की क्षमता’, अमर्त्य सेन की तारीफ से फूली नहीं समा रही TMC चीफ, बोली हमें…

Mamta Banerjee : प्रसिद्ध अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन ने हाल ही में कहा था कि यह सोचना भूल होगी कि 2024 का लोकसभा चुनाव एकतरफा तरीके से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पक्ष में होगा। उन्होंने कहा कि आगामी आम चुनाव में क्षेत्रीय दलों की भूमिका साफ तौर पर महत्वपूर्ण होगी।

Avatar Written by: January 16, 2023 10:50 pm

नई दिल्ली। दुनिया के सबसे बेहतरीन अर्थशास्त्रियों में शुमार अमर्त्य सेन नोबेल पुरस्कार से सम्मानित होने वाले देश के पहले अर्थशास्त्री हैं। हाल ही में उनके द्वारा पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की जमकर तारीफ की गई जिससे ममता बनर्जी बेहद खुश नजर आईं। बनर्जी ने सोमवार को कहा कि सेन की सलाह उनके लिए आदेश है। सेन ने कुछ दिन पहले ही कहा था कि तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख बनर्जी में देश का अगला प्रधानमंत्री बनने की क्षमता है। बनर्जी ने कहा कि अर्थशास्त्री विश्व प्रसिद्ध बुद्धिजीवी हैं और उनका ज्ञान हमें रास्ता दिखाता है। उनकी सलाह मेरे लिए एक आदेश है। देश की वर्तमान स्थिति के बारे में उनके ज्ञान और मूल्यांकन को सभी को गंभीरता से मनन करना चाहिए।

आपको बता दें कि प्रसिद्ध अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन ने हाल ही में कहा था कि यह सोचना भूल होगी कि 2024 का लोकसभा चुनाव एकतरफा तरीके से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पक्ष में होगा। उन्होंने कहा कि आगामी आम चुनाव में क्षेत्रीय दलों की भूमिका साफ तौर पर महत्वपूर्ण होगी। प्रसिद्ध अर्थशास्त्री ने कहा कि टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी में भारत का अगला प्रधानमंत्री बनने का माद्दा है, लेकिन अभी यह स्थापित नहीं हुआ है कि क्या पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री में भाजपा के प्रति जनता की निराशा की ताकतों को खींचने की शक्ति निहित है।

इसके साथ ही आपको बता दें कि अमर्त्य सेन ने पीटीआई को दिए विशेष इंटरव्यू में साफ तौर पर कहा, ‘मुझे लगता है कि क्षेत्रीय दलों की भूमिका स्पष्ट रूप से महत्वपूर्ण है। मुझे लगता है कि द्रमुक एक महत्वपूर्ण दल है, टीएमसी निश्चित तौर पर महत्वपूर्ण है और समाजवादी पार्टी का भी कुछ प्रभाव है, लेकिन क्या इसे बढ़ाया जा सकता है, यह मुझे नहीं मालूम।’ उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि यह मानने से इनकार करना एक भूल होगी कि कोई अन्य पार्टी भाजपा का स्थान नहीं ले सकती है, क्योंकि उसने खुद को ऐसी पार्टी के रूप में स्थापित किया है, जिसका शेष देश के मुकाबले हिंदुओं के प्रति झुकाव देखा जा सकता है