लॉक डाउन के बीच बारात लेकर पहुंचे दूल्हे, शादियां बन गई चर्चा का विषय

जब लोगों को अति आवश्यक काम होने पर ही घर से बाहर निकलने की अनुमति है, भारत में लोग शादी भी कर रहे हैं। लेकिन शादी के लिए लॉक डाउन के बीच जो शर्ते रखी गईं हैं उनका भी साथ ही साथ पालन भी हो रहा है। ऐसी ही एक शादी हाल ही में पंजाब के जालंधर में हुई।

Avatar Written by: April 2, 2020 4:48 pm

नई दिल्ली। कोरोना ने बेशक लोगों को घरों में रहने के लिए मजबूर कर दिया है मगर फिर भी लॉक डाउन के बीच कुछ नई कहानियां बन रही हैं, नई शुरुआतें हो रहीं है। जीवन अब भी अपनी गति को हल्का धीमे करके रेंग रहा है। कुछ लोग घर में बैठकर जिंदगी को करीब से महसूस कर रहे हैं तो कुछ लोग इस लॉक डाउन के बीच रिश्तों के बंधन में बंध रहे हैं।

jalanadhar marriage

जी हां, इस लॉक डाउन के बीच जब लोगों को अति आवश्यक काम होने पर ही घर से बाहर निकलने की अनुमति है, भारत में लोग शादी भी कर रहे हैं। लेकिन शादी के लिए लॉक डाउन के बीच जो शर्ते रखी गईं हैं उनका भी साथ ही साथ पालन भी हो रहा है। ऐसी ही एक शादी हाल ही में पंजाब के जालंधर में हुई जो कि लॉक डाउन के बीच खबरों में आ गई है।

jalandhar shadi

दरअसल जालंधर में मानसा के रणदीप सिंह नाम के दूल्हे की बारात दुल्हन नेहा महाजन के घर पहुंची. इस बारात में सभी लॉक डाउन के नियमों का पालन करते हुए लड़का लड़की दोनों ही पक्षों से सिर्फ पांच- पांच लोग शामिल हुए। अपने अलग ही माहौल की वजह से ये बारात वहां चर्चा का विषय बनी हुई है।

लेकिन ऐसा नहीं है कि सिर्फ एक ही शादी लॉक डाउन के बीच भारत में हुई है, बल्कि ऐसी ही एक कहानी राजस्थान से भी सामने आ रही है जहां- रविवार रात जोधपुर में एक शादी हुई, जिसमें दूल्हे और दुल्हन समेत कुल 5 लोग शामिल हुए । इस विवाह समारोह में सभी लोगों ने अपने मुंह पर मास्क लगाने के साथ ही हाथों में दस्ताने भी पहने हुए थे।

jodhpur shadi

बता दें कि शादी में दूल्हा सिर्फ दो बाराती लेकर पहुंचा था। वहीं दूसरी तरफ वधु पक्ष के तीन लोगों की मौजूदगी में यह शादी सम्पन्न हुई। हालांकि दुल्हन की विदाई रोक दी गई है। लड़की के परिवार ने बताया कि  लॉकडाउन खत्म होने के बाद गाजे-बाजे के साथ दुल्हन की विदाई करवाई जाएगी।