Delhi: बच्चों के साथ विज्ञापन कर बुरे फंसे केजरीवाल, बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने थमाया नोटिस

Delhi: राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने दिल्ली सरकार के चीफ सेक्रेटरी को पत्र लिखकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है, आयोग ने चिट्ठी में लिखा है कि ये नागालिग़ बच्चों की जान से खिलवाड़ करना है। कोरोना से संबंधित किसी नियम का पालन नही किया गया है ऐसे जो भी दोषी हो उनके खिलाफ कार्रवाई कर 07 दिन के अंदर रिपोर्ट दें।

Written by: October 14, 2021 7:48 pm
Arvind Kejriwal

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal)  एक बार फिर मुश्किल में फंस गए है। दरअसल हाल ही में सीएम केजरीवाल ने दिल्ली के स्कूली छात्रों के साथ एक वीडियो की शूटिंग की थी। लेकिन अब इस वीडियो शूट पर राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) ने आपत्ति जताई है। साथ ही राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने दिल्ली सरकार से इस विज्ञापन वाले वीडियो के खिलाफ कार्रवाई की मांग की और जवाब देने का कहा। वीडियो में कथित तौर पर बिना मास्क पहने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किये बगैर स्कूली बच्चों की एक बड़ी भीड़ एकत्रित की गई, जिसका उपयोग विज्ञापन की शूटिंग करते दिखाया गया है। बाल आयोग ने ये भी कहा कि यह केंद्र के कोविड-19 प्रोटोकॉल का उल्लंघन है और स्कूली बच्चों के जीवन को भी खतरे में डालता है।

Letter

 

दिल्ली सरकार आयोग ने इसे कोविड-19 प्रोटोकोल का उल्लंघन बताते हुए दिल्ली सरकार से जवाब मांगा है। वहीं अब इस मामले को लेकर राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने दिल्ली सरकार के चीफ सेक्रेटरी को पत्र लिखकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है, आयोग ने चिट्ठी में लिखा है कि ये नाबालिग बच्चों की जान से खिलवाड़ करना है। कोरोना से संबंधित किसी नियम का पालन नहीं किया गया है ऐसे जो भी दोषी हो उनके खिलाफ कार्रवाई कर 07 दिन के अंदर रिपोर्ट दें।

Support Newsroompost
Support Newsroompost