NCRB: राजस्थान में सबसे ज्यादा हो रहे रेप जैसे जघन्य अपराध, राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो ने जारी किए आंकड़े

NCRB: देश में बलात्कार के मामले लगातार बढ़ रहे हैं, जिसमें सबसे पहले नंबर में राजस्थान का नंबर आता है। साल 2020 में सबसे अधिक बलात्कार के मामले राजस्थान में ही दर्ज किए हैं। राजस्थान में देशभर के सबसे रेप जैसे जघन्य अपराध दर्ज हुए हैं।

Written by: September 15, 2021 7:30 pm

नई दिल्ली। देश में बलात्कार के मामले लगातार बढ़ रहे हैं, जिसमें सबसे पहले नंबर में राजस्थान का नंबर आता है। साल 2020 में सबसे अधिक बलात्कार के मामले राजस्थान में ही दर्ज किए हैं। राजस्थान में देशभर के सबसे रेप जैसे जघन्य अपराध दर्ज हुए हैं। इस मामले में राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो  की ओर से साल 2020 के आंकड़ें जारी किए गए हैं, जिनके जरीए यह जानकारी मिली है कि राजस्थान में बलात्कार जैसी अपराधिक घटनाएं घट रही हैं।

साल 2020 में सामने आई आंकड़ों के मुताबिक देश भर में बलात्कार के कुल 28046 मामले दर्ज किए गए, जिसमें से अकेले राजस्थान में कुल 5,310 मामले दर्ज हुए हैं। तो वही मध्य प्रदेश में भी 2,339 मामलों दर्ज हुए हुएए हैं, वहीं महाराष्ट्र में 2,061 रेप की घटनाओं को अंजाम दिया गया है। एनसीआरबी की रिपोर्ट की मानें तो 18 साल से कम उम्र की बलात्कार पीड़िताओं की संख्या देश में 2640 रही, जबकि 18 वर्ष से ऊपर की पीड़िताओं की संख्या 25406 है। राजस्थान में 18 साल से कम उम्र की बलात्कार पीड़िताओं की संख्या 1279 रही, जबकि 18 वर्ष से ऊपर की पीड़िताओं की संख्या 4031 बचाई जा रही है।

gangrape

क्राइम रेट के मामले में दिल्ली भी शामिल

साल 2020 में देश में महिलाओं के खिलाफ कुल 371503 मामले दर्ज किए गए। वहीं अगर टॉप तीन राज्यों की बात करें तो इनमें राजधानी दिल्ली का नाम भी शामिल है। असम में 154.3 फीसदी क्राइम रेट के साथ राज्यों की सूची में सबसे ऊपर है। तो दूसरे नंबर पर ओडिशा का नाम शामलि है, तो वहीं तीसरे नंबर पर दिल्ली का नाम शामिल है। सामने आए एनसीआरबी के डाटा के मुताबिक राजस्थान में अनुसूचित जाति के लोगों के खिलाफ अपराधों में वृद्धि देखी जा रही है। वहीं साल 2018 में, अनुसूचित जाति के लोगों के खिलाफ राजस्थान में 4,607 मामले दर्ज हुए, जो 2019 में बढ़कर 6,794 और 2020 में 7,017 हो गए।

Support Newsroompost
Support Newsroompost