नेताजी की जयंती पर PM मोदी ने किया बंगाल का दौरा, बोस के पड़पोते ने कहा- शास्त्री जी के बाद मोदी ऐसे दूसरे पीएम

Subhash Chandra Bose Jayanti: केंद्र की मोदी सरकार स्वतंत्रता सेनानी और आजाद हिंद फौज के संस्थापक नेताजी सुभाष चंद्र बोस (Subhash Chandra Bose) की जयंती को पराक्रम दिवस के रूप में मना रही है।

Avatar Written by: January 23, 2021 4:31 pm
PM Narendra Modi and CK Bose

नई दिल्ली। केंद्र की मोदी सरकार स्वतंत्रता सेनानी और आजाद हिंद फौज के संस्थापक नेताजी सुभाष चंद्र बोस (Subhash Chandra Bose) की जयंती को पराक्रम दिवस (Parakram Diwas) के रूप में मना रही है। इस अवसर को खास बनाने के लिए खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) कोलकाता पहुंचे। नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर पीएम मोदी के बंगाल दौरे का उनके पड़पोते सीके बोस (Grandnephew of Subhash Chandra Bose, CK Bose) ने स्वागत किया है। साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री की जमकर तारीफ की। सीके बोस ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि देशभर में  नेताजी की 125 वीं जयंती को पराक्रम दिवस के रूप में मनाने का जो निर्णय केंद्र सरकार ने लिया है वो काफी अच्छा है। भारत के स्वतंत्रता संग्राम में कई लोगों ने अपने प्राणों की आहुति दी, लेकिन अंतिम लड़ाई आज़ाद हिंद फ़ौज ने लड़ी थी।

सीके बोस ने कहा कि बोस परिवार की तरफ से हमने मोदी जी को चिट्ठी लिखी थी कि आप 23 जनवरी को कोलकाता आएं। 1965 में पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री कोलकाता आए थे, उसके बाद कोई प्रधानमंत्री 23 जनवरी को कोलकाता नहीं आए। बहुत खुशी की बात है कि PM ने ये अनुरोध स्वीकार किया।

सुभाष चंद्र बोस की बेटी प्रोफेसर डाॅ.अनिता बोस ने कहा कि, 124 साल पहले भारत के सबसे प्रसिद्ध बेटे, मेरे पिता नेताजी सुभाष चंद्र बोस का कटक में जन्म हुआ था। भारत की केंद्र और राज्य सरकारों ने उनके जन्म के 125 वर्षाें बाद उन्हें सम्मानित करने का फैसला किया, इस फैसले के लिए आपका धन्यवाद।

Support Newsroompost
Support Newsroompost