BIHAR: नीतीश ने किया तिरंगे का आपमान? पड़ताल में सामने आया असली गुनहगार

BIHAR:तीन रंगों वाले चबूतरे पर खड़े नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की जो फोटो शेयर हो रही है, वह फर्जी है। असली फोटो में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता तेजस्वी यादव (Tejasawi Yadav) तीन रंगों वाले चबूतरे पर खड़े हैं। यह फोटो तब ली गई थी, जब तेजस्वी जहानाबाद में आयोजित जनसंपर्क कार्यक्रम में बोल रहे थे।

Avatar Written by: October 31, 2020 7:49 pm
Tejaswi Yadav

नई दिल्ली। बिहार विधानसभा चुनाव के लिए चुनाव प्रचार जोरों पर है। हर पार्टी जो चुनाव में अपना भाग्य आजमा रही है पूरी ताकत से प्रचार के काम में लगी हुई है। इस सब के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर भी जारी है तो वहीं दूसरी तरफ इस पूरे चुनाव में मंच टूटने और नेता जी के जमीन पर आने की घटना भी रूकने का नाम नहीं ले रही है। इस सब के बीच कई ऐसी तस्वीरों को भी वायरल किया जा रहा है जो पूरी तरह से फेक हैं। लेकिन फिर भी उसे सही बताकर खूब शेयर किया जा रहा है। ऐसी ही एक फोटो वायरल की जा रही है जिसमें नीतीश कुमार को झंडा फहराने वाले तीन रंगों से बने चबूतरे पर खड़ा दिखाया गया है और दावा किया गया है कि नीतीश ने तिरंगे का अपमान किया है। लेकिने जब इस फोटो को जांचा परखा गया तो इसकी सत्यता कुछ और ही नजर आई।

तीन रंगों वाले चबूतरे पर खड़े नीतीश कुमार की जो फोटो शेयर हो रही है, वह फर्जी है। असली फोटो में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता तेजस्वी यादव तीन रंगों वाले चबूतरे पर खड़े हैं। यह फोटो तब ली गई थी, जब तेजस्वी जहानाबाद में आयोजित जनसंपर्क कार्यक्रम में बोल रहे थे।

नीतीश कुमार की जारी इस वायरल फोटो के साथ कैप्शन लिखा है, “शर्म आनी चाहिए ऐसे नेताओं को जिस तिरंगे के लिए हमारे महापुरुषों ने अपने प्राण त्याग दिए लेकिन नापाक अंग्रेजों का साया नहीं पड़ने दिया, उसी तिरंगे के ऊपर खड़े होकर अपमान कर रहे हैं! एक मोदी की भी फोटो है जो तिरंगा खड़ा करने वाली जगह पर जूते पहनकर खड़े तिरंगे का अपमान कर रहे हैं।”


इसके पहले तेजस्वी यादव की इस फोटो को उपेंद्र कुशवाहा ने भी शेयर कर लिखा था कि जिन्हें राष्ट्रीय प्रतीक तिरंगा के सम्मान तक का ज्ञान नहीं है सत्ता और कुर्सी की सनक में शिक्षा के महत्व समझ नहीं है, बिहार के लोग उनसे राज्य में विकास और खुशहाली की उम्मीद कैसे करें? फिर से जंगलराज या कुशासन, कभी नहीं!

ऐसे में वायरल हो रही तस्वीर की पड़ताल करने के बाद हमने पाया कि यह तस्वीर पूरी तरह से फर्जी है। इसकी वास्तविक फोटो 21 अक्टूबर 2020 को जहानाबाद के कार्यक्रम में ली गई थी, जिसमें नीतीश कुमार या पीएम मोदी नहीं, बल्कि तेजस्वी यादव तीन रंगों वाले चबूतरे पर खड़े हैं।