Delhi: बीते पूरे सप्ताह जरूरत के मुकाबले मिली केवल 40 प्रतिशत ऑक्सीजन

Delhi: दिल्ली सरकार ने बीते 1 सप्ताह की जानकारी देते हुए बताया कि पूरे सप्ताह दिल्ली में कोरोना रोगियों के लिए प्रतिदिन औसतन 976 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आवश्यकता थी। इस आवश्यकता के मुकाबले औसतन दिल्ली को प्रतिदिन 393 मीट्रिक टन ऑक्सीजन ही उपलब्ध कराई गई।

आईएएनएस Written by: May 4, 2021 7:56 pm
Oxygen Express Kejriwal

नई दिल्ली। कोरोना महामारी से जूझ रही दिल्ली को बीते 1 सप्ताह में उसकी आवश्यकताओं के मुकाबले केवल 40 प्रतिशत ऑक्सीजन ही उपलब्ध हो सकी है। इसके कारण पिछले सप्ताह भी दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी को लेकर अफरा-तफरी मची रही। बीते 24 घंटे के दौरान भी दिल्ली के अस्पतालों को 150 मीट्रिक टन कम ऑक्सीजन ऑक्सीजन उपलब्ध हुई है। दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष राघव चड्ढा ने मंगलवार को जानकारी देते हुए बताया कि बीते 24 घंटे में दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कुल डिमांड 976 मीट्रिक टन रही जबकि दिल्ली को केवल 433 मीट्रिक टन ऑक्सीजन उपलब्ध कराई गई। यानी दिल्ली की कुल मांग के मुकाबले केवल 44 प्रतिशत ऑक्सीजन ही दिल्ली को दी गई।

दिल्ली सरकार ने बीते 1 सप्ताह की जानकारी देते हुए बताया कि पूरे सप्ताह दिल्ली में कोरोना रोगियों के लिए प्रतिदिन औसतन 976 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आवश्यकता थी। इस आवश्यकता के मुकाबले औसतन दिल्ली को प्रतिदिन 393 मीट्रिक टन ऑक्सीजन ही उपलब्ध कराई गई।

केजरीवाल सरकार का कहना है कि बीते 1 सप्ताह के दौरान दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन की जितनी आवश्यकता थी उसके मुकाबले केवल 40 प्रतिशत ऑक्सीजन ही दिल्ली को दी गई।


इसका सीधा असर अस्पतालों में ऑक्सीजन की उपलब्धता पर पड़ रहा है। इस बीच दिल्ली सरकार ने एक बार फिर केंद्र सरकार से दिल्ली को अधिक ऑक्सीजन मुहैया कराने की अपील की है।

दिल्ली में बढ़ते कोरोना रोगियों की संख्या को देखते हुए दिल्ली सरकार ने केंद्र से 976 मीटर टन ऑक्सीजन प्रतिदिन देने की मांग की है। वहीं केंद्र सरकार ने दिल्ली के लिए ऑक्सीजन का कोटा 590 मीट्रिक टन प्रतिदिन तय किया है। लेकिन अभी भी दिल्ली को 433 मीट्रिक टन ऑक्सीजन ही मिल रही है।


उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि हमनें सभी से मदद मांगी है। अभी दिल्ली में ऑक्सीजन को लेकर काफी समस्या है। दिल्ली को अपने कोटे की ऑक्सीजन नहीं मिली है। मनीष सिसोदिया ने यह भी बताया कि रविवार को 590 मीट्रिक टन में से केवल 440 मीट्रिक टन ऑक्सीजन ही मिल पाई जबकि अभी दिल्ली को 976 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत है।

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने अपील करते हुए कहा कि यदि सेना के पास ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर टैंकर मौजूद है तो उसे दिल्ली के लिए मुहैया करवाया जाए। उन्होंने कहा कि डीआरडीओ अभी 500 बेड का कोरोना सेंटर चला रही है जिससे काफी मदद मिल रही है। यदि डीआरडीओ अपने सेंटरों की संख्या बढ़ाता है तो ये इस महामारी के समय में काफी मददगार साबित होगा।

दिल्ली: अस्पताल में फ्रांस के ऑक्सीजन प्लांट, कोरोना रोगियों से मिले उपमुख्यमंत्री

संजय गांधी मेमोरियल हॉस्पिटल में फ्रांस से मंगवाया गया ऑक्सीजन प्लांट लगाया गया है, जो शुरू हो गया है। इस प्लांट से प्रतिदिन 80-100 बड़े सिलेंडर रिफिल किए जाएंगे। जिसकी वजह से सामान्य ऑक्सीजन बेड्स के साथ-साथ आईसीयू बेड्स को ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा सकेगी। वहीं कॉमनवेल्थ गेम्स विलेज में स्थित कोविड केयर सेंटर में भी ऑक्सीजन की कम आपूर्ति के हालात को देखते हुए ऑक्सीजन प्लांट लगाया गया है।


उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को मंगोलपुरी स्थित संजय गांधी मेमोरियल अस्पताल का दौरा किया। इस दौरान वह पीपीई किट पहनकर कोरोना वार्ड में भी गए। मनीष सिसोदिया ने कोरोना पीड़ित रोगियों से मुलाकात की। उचित दूरी रखते हुए सिसोदिया ने कोरोना पीड़ित रोगियों से बातचीत भी की।

संजय गांधी मेमोरियल हॉस्पिटल में 300 बेड्स की क्षमता है, जिसमें 118 कोविड बेड्स है। मनीष सिसोदिया ने हॉस्पिटल के कोविड वार्ड जाकर मरीजों का हाल जाना। उन्होंने डॉक्टरों को मरीजों को बेहतर सुविधा मुहैया करवाने के निर्देश भी दिए।


उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को कॉमनवेल्थ गेम्स विलेज में स्थित कोविड केअर सेंटर का दौरा कर वहां की स्थिति और स्वास्थ्य सुविधाओं का जायजा लिया। इस केंद्र में उपमुख्यमंत्री ने डॉक्टरों से बातचीत कर व्यवस्था का जायजा लिया। वर्तमान में ऑक्सीजन की कम आपूर्ति के हालात को देखते हुए इस केंद्र में ऑक्सीजन प्लांट लगाया गया है।

इस कोविड केअर सेंटर की क्षमता 500 बेड्स की है लेकिन ऑक्सीजन की कमी के कारण यहां बेड्स खाली है। उपमुख्यमंत्री ने बताया कि जैसे ही ऑक्सीजन की आपूर्ति नियमित हो जाएगी इस सेंटर को पूरी क्षमता के साथ चलाया जाएगा।


सिसोदिया ने कहा कि हमारे डॉक्टर और सभी मेडिकल स्टाफ अपनी जान की परवाह किए बगैर दिन-रात लोगों की जान बचा रहे है, हमें उन पर गर्व है। हम उनके जज्बे को सलाम करते हैं।

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा की ये युद्धकाल है। और इससे लड़ने के लिए दिल्ली सरकार युद्धस्तर पर काम कर रही है। उन्होंने जनता से अपील करते हुए कहा कि हमें कोरोना से साथ मिलकर लड़ना है। उन्होंने लोगों लॉकडाउन के नियमों का पालन करने की अपील की।


उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मंगलवार को स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के साथ रामलीला मैदान में बन रहे 500 बेड्स के आईसीयू सेंटर का भी जायजा लिया। रामलीला मैदान में आईसीयू सेंटर बनाने का काम युद्धस्तर पर जारी है। अगले एक सप्ताह के भीतर इस सेंटर की शुरूआत की जा सकती है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost