मुरादाबाद : कोरोना की जांच करने गई मेडिकल टीम पर हुआ हमला तो CM योगी ने दिया ये आदेश

दरअसल कोरोना की जांच करने मुरादाबाद जिले के नागफनी थाने के हाजी नेब की मस्जिद इलाके में गई मेडिकल टीम पर हमला कर दिया गया।

Written by: April 15, 2020 2:56 pm

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले के नागफनी थाने के हाजी नेब की मस्जिद इलाके में गई मेडिकल टीम पर हमला कर दिया गया है। इतना ही, उनके साथ गई 108 मेडिकल एंबुलेंस पर पथराव भी किया गया।

108 ambulance

सोमवार को इसी इलाके के एक शख्स की मौत हो गई थी जो कोरोना संक्रमित था। उनके परिवार को तत्काल क्वारंटीन कर दिया गया था, लेकिन आज उनके संपर्क में आने वाले कुछ और लोगों को भी क्वारंटीन किया जाना था। इसी के लिए दोपहर करीब दो बजे टीम वहां पहुंची थी। इस दौरान उन पर हमला कर दिया गया। ताजा जानकारी के अनुसार इस हादसे में एंबुलेंस कर्मियों के साथ डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ घायल हैं।

police jeep

जानकारी के मुताबिक मौके पर भारी संख्या में पुलिस फोर्स पहुंच गई है और भीड़ को हटाने की कोशिश की जा रही है। इस घटना को लेकर एंबुलेंस ड्राइवर का कहना है कि कुछ लोगों ने मेडिकल टीम और पुलिस पर पथराव किया, जो संभावित रूप से संक्रमित को लेने के लिए गए थे। जब हमारी टीम मरीज के साथ एम्बुलेंस में सवार हुई, अचानक भीड़ आई और पथराव शुरू कर दिया, कुछ डॉक्टर अभी भी घायल हैं।

क्यों इस इलाके में पहुंची स्वास्थ्य विभाग और पुलिस की टीम

मुरादाबाद के थाना नागफनी क्षेत्र के नवाबपुरा क्षेत्र में रहने वाला सरताज आठ अप्रैल को तबीयत बिगडऩे पर उपचार के लिए तीर्थंकर महावीर विश्वविद्यालय के मेडिकल कालेज पहुंचा था, जहां उसे भर्ती कर लिया गया। उसकी लक्षण को देखते हुए नौ अप्रैल को उसका सैंपल लिया गया था। 13 अप्रैल को देर शाम उसकी रिपोर्ट मिली, जिसमें कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई। उसी दिन रात दस बजे उसकी मौत हो गई। इसके बाद देर रात सरताज के परिजनों को क्वारंटाइन के लिए आइएफटीएम यूनिवर्सिटी ले जाया गया।

Muradabad

सरताज के छोटे भाई को भी तीन दिन से बुखार होने के कारण उसे क्वारंटाइन के लिए ले जाने के लिए बुधवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम नवाबपुरा पहुंची। टीम के वहां पहुंचने के बाद मुहल्ले के लोग एकत्रित होना शुरू हो गए और बाकी परिजनों को ले जाने का विरोध करने लगे। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उन्हें समझाने की कोशिश तो भीड़ में मौजूद कुछ लोगों ने हंगामा करना शुरू कर दिया और देखते-देखते ही टीम पर हमलावर हो गए।

टीम खुद को बचाते हुए भागने लगी तो पथराव कर दिया। पथराव होते देख टीम के साथ गए चारों पुलिस वाले मैदान छोड़कर भाग निकले। एक डॉक्टर को बंधक बना लिया गया। इसमें एचसी मिश्रा के गंभीर चोट आई हैं। जबकि एक टेक्नीशियन को भी चोट लगी है। एंबुलेंस भी क्षतिग्रस्त हुई है। फिलहाल एसपी सिटी फोर्स के साथ घटनास्थल पर रवाना हो गए हैं।

उपद्रवियों ने एक डॉक्टर को भी बना लिया था बंधक

Muradabad

मुरादाबाद में कोरोना वायरस के संक्रमण में आए परिवार के लोगों को चिकित्सकों की टीम क्वारंटाइन के लिए ले जाने पहुंची थी। इसी बीच टीम पर मुरादाबाद के नवाबपुरा मुहल्ले के लोगों ने हमला कर दिया। टीम पर न केवल पथराव किया गया, बल्कि एंबुलेंस में तोड़-फोड़ भी की गई। इसके चलते टीम को उल्टे पांव भागकर अपनी जान बचानी पड़ी। इनके साथ में गए चार पुलिस वाले स्वास्थ्य विभाग की टीम को छोड़कर भाग निकले। उपद्रवियों ने एक डॉक्टर को बंधक बना लिया था।

घटना पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दी ऐसी प्रतिक्रिया

आपको बता दें कि इस घटना को संज्ञान में लेते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आरोपियों पर NSA के तहत कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री ऑफिस की तरफ से जानकारी दी गई है कि ‘सीएम योगी ने मुरादाबाद में हुई घटना का संज्ञान लेते हुए कहा कि स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर्स व कर्मी सभी सफाई अभियान से जुड़े अधिकारी / कर्मचारी, सुरक्षा में लगे सभी पुलिस अधिकारी व पुलिस के कर्मी इस आपदा की घड़ी में दिन रात सेवा कार्य में जुटे हैं। पुलिस कर्मियों, स्वास्थ्य कर्मियों एवं स्वच्छता अभियान से जुड़े कर्मियों पर हमला एक अक्षम्य अपराध है, जिसकी घोर निंदा की जाती है। ऐसे दोषी व्यक्तियों के खिलाफ आपदा नियंत्रण अधिनियम तथा राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम (NSA) के तहत कार्यवाही की जाएगी।’

yogi office tweet muaradabad

योगी ने कहा कि, ‘दोषी व्यक्तियों द्वारा की गई राजकीय सम्पत्ति के नुकसान की भरपाई उनसे सख्ती से की जाएगी। जिला पुलिस प्रशासन ऐसे उपद्रवी तत्वों को तत्काल चिन्हित करें और प्रत्येक नागरिक को सुरक्षा के साथ ही उपद्रवी तत्वों पर पूरी सख्ती भी करें।’

आपको बता दें कि ये इस तरह की कोई पहली घटना नहीं है, इससे पहले मेरठ में मस्जिद के इमाम समेत 4 लोगों ने अधिकारियों की टीम पर हमला कर दिया। दरअसल, यहां कुछ जामाती आए थे। वे दारीवाली मस्जिद में ठहरे थे, उसमें से एक की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।  इसके बाद अधिकारी पुलिस बल के साथ मस्जिद सील करने गए थे। तभी लोगों ने इसका विरोध किया और टीम पर पथराव कर दिया।