भाषण देने आए कन्हैया कुमार को लोगों ने दौड़ाया, भागते कन्हैया के काफिले ने कई बाइक सवारों को कुचला

कन्हैया कुमार फिर एक विवाद में फंस गए हैं। वे बिहार में जहां भी जा रहे हैं, उनका जमकर विरोध हो रहा है। इसी कड़ी में जवाहर लाल नेहरू विश्व विद्यालय छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष व भाकपा नेता कन्हैया कुमार पर एक बार फिर पथराव हुआ।

Written by: February 14, 2020 6:23 pm

नई दिल्ली। कन्हैया कुमार फिर एक विवाद में फंस गए हैं। वे बिहार में जहां भी जा रहे हैं, उनका जमकर विरोध हो रहा है। इसी कड़ी में जवाहर लाल नेहरू विश्‍वविद्यालय छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष व भाकपा नेता कन्हैया कुमार पर एक बार फिर पथराव हुआ।लोगों ने उन्हें उस वक्त दौड़ा लिया जब वह बिहार के आरा में भाषण देने जा रहे थे।

कन्हैया पर पथराव तब हुआ जब वह बक्‍सर से आरा जा रहे थे। स्थिति इतनी गंभीर हो गई कि कन्‍हैया कुमार को जान बचाकर भागना पड़ा।  मगर भागने की हड़बड़ी में  कन्‍हैया के काफिले से कई बाइक सवार बुरी तरह जख्‍मी हो गए। मौके पर पहुंचकर पुलिस ने मामले को संभालने की कोशिश की। इससे पहले बक्‍सर में कन्‍हैया कुमार को काला झंडा दिखाया गया। दरअसल वामदलों की जन मन यात्रा के तहत शु्क्रवार को भाकपा नेता कन्‍हैया कुमार की सभा बिहार के बक्‍सर व आरा में निर्धारित थी।

कन्हैया ने बक्सर में सभा को संबोधित किया और फिर आरा के लिए रवाना हुए। कन्हैया कुमार ने ट्वीट करके कहा कि आज जन-गण-मन यात्रा का काफिला बक्सर में सभा करने के बाद आरा पंहुचेगा। गोडसे-प्रेमियों ने आरा में होने वाली सभा के मंच मे कल रात आग लगा दी है लेकिन हम तो जाएंगे मोहब्बत का कारवां लेकर और लगाएंगे नफ़रत से आज़ादी के नारे।इंकलाब मंच का मोहताज नही होता दोस्तों।

दरअसल आरा-बक्सर हाइवे पर बामपाली गांव के समीप बाइक सवार लोगों ने कन्‍हैया कुमार के काफिले पर जमकर पथराव कर दिया। ये लोग कन्हैया कुमार के बयानों का विरोध कर रहे थे। कन्हैया काफिले समेत तेजी से भागे। भागने के इसी क्रम में काफिले में शामिल वाहन से कई बाइक सवार कुचला गये। कई बाइक सवारों को गंभीर चोटे आईं हैं। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा है।

कुचले जाने से स्थानीय लोगों का गुस्सा फूट पड़ा।  मामला इतना बढ़ गया कि वहां से किसी तरह कन्हैया जान बचाकर भागे। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। पुलिस ने अस्‍पताल पहुंच घायल व्‍यक्ति से भी पूछताछ की है। इससे पहले आरा के गजराजगंज में हुए पथराव के पहले बक्‍सर में भी कन्‍हैया कुमार के काफिले को लोगों ने काला झंडा दिखाया था। बाद में पुलिस के हस्‍तक्षेप के बाद मामला शांत हुआ। ध्यान देने वाली बात यह है कि सीएए, एनआरसी व एनपीआर के विरोध में 26 जनवरी से कन्हैया कुमार की जन मन यात्रा शुरू हुई है। तब से कहीं न कहीं पथराव व काला झंडा दिखाने का मामला सामने आ रहा है।