राष्ट्रीय एकता दिवस परेड में बोले PM मोदी- ‘पड़ोसी देश के बयान से भारत में कई लोग बेनकाब’

Sardar Patel: देश में आज सरदार वल्लभ भाई पटेल की 145वीं जयंती मनाई जा रही है। गौरतलब है कि पीएम मोदी(PM Modi) गुजरात(Gujrat) दो दिवसीय यात्रा पर गए हैं। आज उनकी यात्रा का दूसरा दिन है।

Avatar Written by: October 31, 2020 8:56 am
PM Modi kevadia speech

नई दिल्ली। भारत रत्न सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केवड़िया में स्टैच्यू ऑफ यूनिटी पर उन्हें श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा कि, राष्ट्रीय एकता और अखंडता के अग्रदूत लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल को उनकी जन्म-जयंती पर विनम्र श्रद्धांजलि। आपको बता दें कि सरदार पटेल की 145वीं जयंती के मौके पर एकता दिवस समारोह में हिस्सा लेने पहुंचे हैं।  यहां पर पीएम मोदी ने सरदार पटेल की भव्य प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की। देश में आज सरदार वल्लभ भाई पटेल की 145वीं जयंती मनाई जा रही है। गौरतलब है कि पीएम मोदी गुजरात दो दिवसीय यात्रा पर गए हैं। आज उनकी यात्रा का दूसरा दिन है। इस मौके पर पीएम मोदी दोपहर 1 बजे वाटर एरोड्रम (साबरमती रिवरफ्रंट) का उद्घाटन करेंगे। पीएम मोदी सीप्लेन सेवा (साबरमती रिवरफ्रंट से केवडिया तक) का भी उद्घाटन करेंगे।

PM Modi Kevadia

वहीं सी प्लेन की बात करें तो सी प्लेन प्लेन जमीन-पानी दोनों से उड़ान भर सकता है। इसे पानी और जमीन पर लैंड कराया जा सकता है। सी प्लेन महज 300 मीटर के रनवे से उड़ान भर सकता है। 300 मीटर की लंबाई वाले जलाशय का इस्तेमाल हवाई-पट्टी के रूप में मुमकिन है। ये एंफीबियस कैटेगरी का प्लेन होता है और इसमें एक बार में 19 यात्री सफर कर सकेंगे।

Parade Kevadia

लाइव अपडेट-

फ्रांस में कार्टून विवाद के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ देशों की ओर इशारा करते हुए कहा कि प्रगति के इन प्रयासों के बीच, कई ऐसी चुनौतियां भी हैं जिसका सामना आज भारत, और पूरा विश्व कर रहा है। बीते कुछ समय से दुनिया के अनेक देशों में जो हालात बने हैं, जिस तरह कुछ लोग आतंकवाद के समर्थन में खुलकर सामने आ गए हैं, वो आज वैश्विक चिंता का विषय है।

पीएम ने कहा कि आज के माहौल में, दुनिया के सभी देशों को, सभी सरकारों को, सभी पंथों को, आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होने की बहुत ज्यादा जरूरत है। शांति-भाईचारा और परस्पर आदर का भाव ही मानवता की सच्ची पहचान है। आतंकवाद-हिंसा से कभी भी, किसी का कल्याण नहीं हो सकता है।

पीएम मोदी ने कहा कि, “मैं ऐसे राजनीतिक दलों से आग्रह करूंगा कि, देश की सुरक्षा के हित में, हमारे सुरक्षाबलों के मनोबल के लिए, कृपा करके ऐसी राजनीति न करें। अपने स्वार्थ के लिए, जाने-अनजाने आप देशविरोधी ताकतों की हाथों में खेलकर, न आप देश का हित कर पाएंगे और न ही अपने दल का।”

देश को सबसे ऊपर रखने की बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि, “हमें ये हमेशा याद रखना है कि हम सभी के लिए सर्वोच्च हित- देशहित है। आज अवसर है इस विराट और भव्य व्यक्तित्व के चरणों मे हम उसी भारत के निर्माण का संकल्प दोहराएं, जिसका सपना सरदार पटेल ने देखा था।”

PM मोदी ने कहा कि, “देश कभी भूल नहीं सकता कि जब अपने वीर बेटों के जाने से पूरा देश दुखी था, तब कुछ लोग उस दुख में शामिल नहीं थे, वो पुलवामा हमले में भी अपना राजनीतिक स्वार्थ देख रहे थे। देश भूल नहीं सकता कि तब कैसी-कैसी बातें कहीं गईं, कैसे-कैसे बयान दिए गए।”

उन्होंने कहा कि, “देश भूल नहीं सकता कि जब देश पर इतना बड़ा घाव लगा था, तब स्वार्थ और अहंकार से भरी भद्दी राजनीति कितने चरम पर थी। पिछले दिनों पड़ोसी देश से जो ख़बरें आई हैं जिस प्रकार वहां की संसद में सत्य स्वीकारा गया है, उसने इन लोगों के असली चेहरों को देश के सामने ला दिया है।”

प्रधानमंत्री ने पुलवामा हमले का जिक्र करते हुए कहा कि जब हमारे देश के जवान शहीद हुए थे उस वक्त भी कुछ लोग राजनीति में लगे हुए थे। ऐसे लोगों को देश भूल नहीं सकता है।

पीएम ने कहा कि उस वक्त वे सारे आरोपों को झेलते रहे, भद्दी भद्दी बातें सुनते रहे। मेरे दिल पर गहरा घाव था। लेकिन पिछले दिनों पड़ोसी देश से जिस तरह से खबरें आई है, जो उन्होंने स्वीकार किया है, इससे इन दलों का चेहरा उजागर हो गया है। पीएम ने कहा, “जिस प्रकार वहां की संसद में सत्य स्वीकारा गया है, उसने इन लोगों के असली चेहरों को देश के सामने ला दिया है। अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए, ये लोग किस हद तक जा सकते हैं, पुलवामा हमले के बाद की गई राजनीति, इसका बड़ा उदाहरण है।”

आज भारत की भूमि पर नज़र गड़ाने वालों को मुंहतोड़ जवाब देने की ताकत हमारे वीर जवानों के हाथ में है। आज का भारत सीमाओं पर सैकड़ों किलोमीटर लंबी सड़कें बना रहा है, दर्जनों ब्रिज, अनेक सुरंगें बना रहा है। अपनी संप्रभुता और सम्मान की रक्षा के लिए आज का भारत पूरी तरह तैयार है।

पीएम ने कहा कि, कोरोना महामारी अचानक आई, इसने पूरे विश्व में मानव जीवन को प्रभावित किया, हमारी गति को प्रभावित किया है। लेकिन इस महामारी के सामने 130 करोड़ देशवासियों ने जिस तरह अपने सामूहिक सामर्थ्य को साबित किया है वो अ​भूतपूर्व है।

पीएम ने कहा कि ये भी अद्भुत संयोग है कि आज ही वाल्मीकि जयंती भी है। आज हम भारत की जिस सांस्कृतिक एकता का दर्शन करते हैं, जिस भारत को अनुभव करते हैं, उसे और जीवंत और ऊर्जावान बनाने का काम सदियों पहले आदिकवि महर्षि वाल्मीकि ने ही किया था। उन्होंने कहा कि महर्षि वाल्मीकि का श्लोक जननी जन्मभूमिश्च स्वर्गादपि गरीयसी की प्रेरणा हमें आज तक मातृभूमि की महता की सीख देती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज सरदार सरोवर से साबरमती रिवर फ्रंट तक सी-प्लेन सेवा का भी शुभारंभ होने जा रहा है। सरदार साहब के दर्शन के लिए, स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को देखने के लिए देशवासियों को अब सी-प्लेन सर्विस का भी विकल्प मिलेगा। ये सारे प्रयास इस क्षेत्र में पर्यटन को भी बहुत ज्यादा बढ़ाने वाले हैं।

केवड़िया में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि, “देश की सैकड़ों रियासतों को, राजे-रजवाड़ों को एक करके, देश की विविधता को आज़ाद भारत की शक्ति बनाकर सरदार पटेल ने हिंदुस्तान को वर्तमान स्वरूप दिया।”

PM Modi kevadia speech live

राष्ट्रीय एकता दिवस परेड के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज हम सरदार साहब की इस गगनचुंबी प्रतिमा के सान्निध्य में भारत की प्रगति का प्रण दोहरा रहे हैं। पीएम ने कहा कि केवड़िया में कुछ ही दिनों में विकास के कई कार्य हुए हैं। उन्होंने कहा कि जल्द ही ये स्थान दुनिया के पर्यटन मानचित्र पर छाने वाला है।

सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती पर केवड़िया में राष्ट्रीय एकता दिवस परेड में आदिवासी कलाकारों ने लोकनृत्य प्रस्तुति दी।

राष्ट्रीय एकता दिवस परेड में एनएसजी, एनडीआरएफ, गुजरात पुलिस, सीआरपीएफ की महिला यूनिट जैसी सुरक्षा एजेंसियां शामिल हुई। इन एजेंसियों ने शानदार परेड दिखाया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केवड़िया में राष्ट्रीय एकता दिवस परेड का निरीक्षण किया और परेड की सलामी ली। इस परेड़ में देश की सभी सुरक्षा एजेंसियों के जवान शामिल है। परेड से पहले पीएम मोदी ने सुरक्षा एजेंसियों के जवानों को राष्ट्रीय एकता और सुरक्षा की शपथ दिलाई।