बाइडन से गले मिलने जा रहे थे PM मोदी, अचानक से अमेरिकी राष्ट्रपति ने दिया रोक, जानें वायरल तस्वीरों का सच

अमेरिकी दौरे के दौरान क्या पीएम मोदी की फजीहत हो गई? क्या पीएम मोदी को जो बाइडन ने गले मिलने से रोक दिया? क्या बाइडन की इस कृत्य से पीएम मोदी आहत हुए? ये कुछ कुछ ऐसे सवाल हैं, जो वास्तविक दुनिया में तो नहीं, लेकिन सोशल मीडिया की दुनिया में काफी चर्चा में हैं।

Written by: September 26, 2021 5:30 pm

नई दिल्ली। अमेरिकी दौरे के दौरान क्या पीएम मोदी की फजीहत हो गई? क्या पीएम मोदी को राष्ट्रपति जो बाइडन ने गले मिलने से रोक दिया? क्या बाइडन की इस कृत्य से पीएम मोदी आहत हुए? ये कुछ कुछ ऐसे सवाल हैं, जो वास्तविक दुनिया में तो नहीं, लेकिन सोशल मीडिया की दुनिया में काफी चर्चा में हैं। सोशल मीडिया की दुनिया में बताया जा रहा है कि बाइडन ने पीएम मोदी को गले मिलने से रोक दिया। हालांकि, वो और बात है कि पीएम मोदी अपनी मित्रता और आत्मीयता का परिचय देते हुए बाइडन को अपनी आगोश में लेने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन बाइडन को यह नागवार गुजरा। इसे बात को पुख्ता करने के लिए तस्वीरें भी वायरल की जा रही हैं, जिसे देखकर किसी के लिए भी यह कहना सहज हो सकता है कि पीएम मोदी को बाइडन ने गले से मिलने रोक दिया, लेकिन वायरल हो रही तस्वीरों का एक दूसरा पहलू भी है, जो आपसे और हमसें छुपाया जा रहा है। आइए, जरा तफसील से करते हैं, इन वायरल तस्वीरों की पड़ताल।

कहते हैं कि तस्वीरें झूठ नहीं कहती। यह बहुत कुछ बयां कर दिया करतीं हैं। हजारों हर्फों को चंद तस्वीरें अपनी बांहों में समेट लेतीं हैं, और सोशल मीडिया की इस आत्याधुनिक दुनिया में तो कुछ भी मुमकिन है। जी हां.. कुछ भी.. मतलब… कुछ भी…सच को झूठ, और झूठ को सच, में तब्दील करने का कारोबार इस सोशल मीडिया की दुनिया में काफी फलफूल रहा है। कुछ ऐसा ही किया गया पीएम मोदी की इन तस्वीरों के साथ भी। जब उनकी वायरल हुई कुछ तस्वीरों को उनके चंद विरोधियों ने सच को झूठ में और झूठ को सच में तब्दील करने काम किया है।

Modi and biden

दरअसल, पीएम मोदी के अमेरिकी दौरे से जुड़ी कुछ तस्वीरों को चंद धुर विरोधियों ने ऐसे पेश किया, जैसे कि वो सच हो, लेकिन सच तो कुछ और ही था।  पीएम मोदी और जो बाइडन की मुलाकात से जुड़ी इन तस्वीरों के साथ छेड़छाड़ कर उसे ऐसा रूप दिया गया कि जिसे देखने वालों को लगे कि बाइडेन पीएम मोदी को गले मिलने से रोक रहे हैं, लेकिन हकीकत तो कुछ और ही थी। चलिए, थोड़ा हर्फों की दुनिया से खुद को अलहदा करते हुए तस्वीरो की कायनात में आकर करते हैं, हकीकत की पड़ताल।

obama

जरा ऊपर लगी इस तस्वीरों को ध्यान से देखिएगा। इसमें आपको पीएम मोदी और बाइडेन के बीच आत्मीयता साफ झलक रही होगी। दोनों ही सूरमाओं के चेहरे की लालिमा यह बयां करने के लिए काफी है कि दोनों एक-दूसरे का अदब करते हैं। खैर, आप तस्वीरों में निगाहें डालेंगे तो आपको दिखेगा कि कैसे बाइडन पीएम मोदी का हाथ पकड़ते हुए मुस्कुरा रहे हैं। बस, चंद लोग बाइडन के इस भाव को मुद्दा बनाकर वैश्विक स्तर पर पीएम मोदी की विराट छवि को धुमिल करने का कुकृत्य कर रहे हैं। दरअसल, आपको यहां  यह समझने की आवश्यकता है कि आखिर बाइडन ने किस परिस्थिति में पीएम मोदी का हाथ पकड़ा हुआ है। दरअसल, पीएम मोदी का हाथ उन्होंने आवभगत करने हेतु पकड़ा है। उन्हें कुर्सी पर बैठाने हेतु पकड़ा है, लेकिन नहीं मोदी को बदनाम करने का  ठेका लेने वाले गिरोह को भला यह बात कहां समझ आने वाली है। वो तो बस इस मनगढंत तस्वीर को वायरल करने में मशगल हैं।

Support Newsroompost
Support Newsroompost