Connect with us

देश

Ganga Expressway: पीएम मोदी शाहजहांपुर जिले में 18 दिसंबर को करेंगे गंगा एक्सप्रेस वे का शिलान्यास, 94 फीसदी भूमि की खरीद हुई पूरी

Ganga Expressway: गंगा एक्सप्रेस वे से सामाजिक और आर्थिक विकास के साथ कृषि, वाणिज्य, पर्यटन और उद्योगों की आय को बढ़ावा मिलेगा। इसके अलावा विभिन्न उत्पादन ईकाईयों, विकास केंद्रों और कृषि उत्पादन क्षेत्रों को राष्ट्रीय राजधानी से जोड़ने के लिए एक औद्योगिक कॉरिडोर के रूप में सहायक होगा। एक्सप्रेस वे खाद्य प्रसंस्करण इकाईयों, भंडार गृह, मंडी और दुग्ध आधारित उद्योगों की स्थापना के लिए एक उत्प्रेरक के रूप में काम करेगा।

Published

on

pm modi cm yogi

लखनऊ। गंगा एक्सप्रेस वे प्रदेश के इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट में मील का पत्थर साबित होने वाला है। पूर्वी यूपी से पश्चिमी यूपी को एक सूत्र में पिरोने वाला गंगा एक्सप्रेस वे सीधे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) से जुड़ेगा। गंभीर बात यह है कि गंगा एक्सप्रेस वे के लिए जब भूमि खरीदी जा रही थी, उस समय पूरे देश में कोरोना की लहर पीक पर थी। इसके बावजूद महज एक साल में गंगा एक्सप्रेस वे के लिए 83 हजार किसानों से 94 फीसदी भूमि खरीदी गई है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 18 दिसंबर को शाहजहांपुर जिले में गंगा एक्सप्रेस वे परियोजना का शिलान्यास करने वाले हैं। राज्य सरकार ने 36,230 करोड़ रुपए की लागत से 594 किमी लंबे गंगा एक्सप्रेस वे परियोजना की स्वीकृति पिछले साल 26 नवंबर को दी थी। परियोजना के लिए करीब 7386 हेक्टेयर भूमि की आवश्यकता है, जिसमें पिछले चार माह में 71,621 किसानों से 90 फीसदी से अधिक भूमि खरीदी गई है। अब तक कुल 82,750 किसानों से 94 फीसदी भूमि की खरीद हुई है। पर्यावरण संरक्षण के लिए एक्सप्रेस वे के किनारे करीब 18,55,000 पौधे लगाए जाएंगे। साथ ही परियोजना में अधिग्रहित भूमि पर सोलर पावर के माध्यम से ऊर्जा का उत्पादन होगा, जिससे परियोजना के संचालन के लिए आवश्यक ऊर्जा की पूर्ति होगी।

ganga expressway

पश्चिमी यूपी के विकास की नई ईबारत लिखेगा गंगा एक्सप्रेस वे
गंगा एक्सप्रेस वे पश्चिमी यूपी के विकास की नई इबारत लिखेगा। आधे से ज्यादा एक्सप्रेस वे पश्चिम के मेरठ, हापुड़, बुलन्दशहर, अमरोहा, सम्भल, बदायूं, शाहजहांपुर जिले से गुजर रहा है। हापुड़ और बुलन्दशहर सहित अन्य जिलों के लोगों के आवागमन के लिए गढ़मुक्तेश्वर में एक अन्य पुल बनाया जाएगा।

राष्ट्रीय राजधानी से जोड़ने के लिए एक औद्योगिक कॉरिडोर के रूप में सहायक होगा एक्सप्रेस वे
गंगा एक्सप्रेस वे से सामाजिक और आर्थिक विकास के साथ कृषि, वाणिज्य, पर्यटन और उद्योगों की आय को बढ़ावा मिलेगा। इसके अलावा विभिन्न उत्पादन ईकाईयों, विकास केंद्रों और कृषि उत्पादन क्षेत्रों को राष्ट्रीय राजधानी से जोड़ने के लिए एक औद्योगिक कॉरिडोर के रूप में सहायक होगा। एक्सप्रेस वे खाद्य प्रसंस्करण इकाईयों, भंडार गृह, मंडी और दुग्ध आधारित उद्योगों की स्थापना के लिए एक उत्प्रेरक के रूप में काम करेगा।

cm yogi ganga Expressway

शाहजहांपुर जिले में बनाई जाएगी हवाई पट्टी
एक्सप्रेस वे पर आपातकाल में वायु सेना के विमानों की लैंडिंग और टेक ऑफ के लिए शाहजहांपुर जिले में एक हवाई पट्टी भी बनाई जानी है। साथ ही लोगों की सुविधाओं के लिए नौ जनसुविधा केंद्र, सात रेलवे ओवर ब्रिज, 14 दीर्घ सेतु, 126 लघु सेतु और 381 अण्डरपास बनाया जाएगा। एक्सप्रेस वे पर प्रवेश और निकासी के लिए 17 स्थानों पर इण्टरचेंज सुविधा भी दी जाएगी। परियोजना के आस-पास के गांवों के निवासियों के लिए सर्विस रोड भी बनाया जाएगा।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
anil parab
देश2 mins ago

Maharashtra: ED के जाल में फंसे उद्धव ठाकरे के एक और मंत्री, मनी लॉन्ड्रिंग केस में अनिल परब के ठिकानों पर छापे

do took show supriya shrinate
देश25 mins ago

Delhi: डिबेट को ‘स्टूपिड’ बताकर ऐसा कहने से मुकरीं कांग्रेस की प्रवक्ता तो एंकर ने LIVE शो में दिखाया सबूत, यूजर्स बोले- रंगेहाथ पकड़ा

asaduddin owaisi
देश1 hour ago

Tussle Over Gyanvapi: ज्ञानवापी मस्जिद पर भड़काऊ बयान दे रहे असदुद्दीन ओवैसी पर मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का पलटवार, Video में देखिए क्या कहा

pm modi
देश2 hours ago

Visit: आज हैदराबाद और चेन्नई के दौरे पर जाएंगे PM मोदी, Photos में देखिए शानदार विकास की लिखेंगे कैसी गाथा

yasin malik 1
दुनिया2 hours ago

Sympathy For Terror: नेताओं के बाद आतंकी यासीन मलिक के समर्थन में उतरी पाक सेना, यूजर्स ने लगाई ऐसे क्लास

Advertisement