CBSE Board Exams 2021: जब PM मोदी ने जोर देकर कहा-10 वीं की परीक्षा टालना नहीं रद्द करना होगा…

CBSE Board Exam News: सूत्रों की मानें तो पीएम मोदी पूरे बैठक के दौरान इस बात को दोहरा रहे थे कि छात्रों की जिंदगी देश के अमूल्य है ऐसे में परीक्षा केंद्रों पर उनको भेजना इस तरह के बढ़ते कोरोना प्रसार के बीच यह बेहतर नहीं होगा। ऐसे में 10वीं की परीक्षा रद्द की जाए और 12वीं की परीक्षा को टालकर दोनों के पक्ष में कैसे अंक देने और आगे परीक्षा आयोजित की जाएगी इस पर विचार किया जाए।

Avatar Written by: April 14, 2021 4:29 pm
PM Modi Cbse

नई दिल्ली। कोरोना ने पूरे देश में दूसरी लहर के साथ कोहराम मचा रखा है। इस सब के बीच केंद्र सहित राज्य सरकारें इस कोरोनावायरस के दूसरे लहर से जनता को बचाने के लिए कई तरह की पाबंदियों पर विचार कर रही है। कई राज्यों में कुछ पाबंदियां लगाई भी गईं हैं। इस सब के बीच लगातार इस बात को लेकर भी मांग तेज हो गई थी कि सीबीएसई की तय परीक्षा की तारीख पर पुनर्विचार किया जाए क्योंकि बोर्ड और 12 वीं के ये परीक्षा केंद्र कोरोना के हॉट स्पॉट बन सकते हैं। वहीं दूसरी तरफ इस परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों के अभिभावक भी इस बात को लेकर तैयार नहीं दिख रहे थे कि वह अपने बच्चों को परीक्षा केंद्र तक भेजें। वहीं इन सबके बीच आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शिक्षा मंत्री के बीच हुई बैठक के बाद इस बात की घोषणा कर दी गई कि अब इस साल सीबीएसई 10वीं की परीक्षा आयोजित नहीं करेगा, जबकि 12वीं की परीक्षा की तिथि को टाल दिया गया है।

PM Narendra Modi

इससे पहले परीक्षा पर चर्चा कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने छात्रों से इस पूरे मुद्दे पर जमकर बात की थी और साथ ही छात्रों को परीक्षा के नए गुर सिखाए थे। लेकिन इसके बाद कोरोना के बढ़ते प्रसार को देखते हुए सूत्रों की मानें तो पीएम मोदी भी इस पक्ष में थे कि परीक्षा की तारीखों पर फिर से सोचना चाहिए। इसी को लेकर वह लगातार शिक्षा मंत्रालय के साथ संपर्क में थे। सूत्रों की मानें तो प्रधानमंत्री के साथ बैठक के दौरान भी लगातार अधिकारी इस बात पर जोर दे रहे थे कि परीक्षा को रद्द नहीं किया जाए बल्कि किसी और तरह की संभावनाओं पर विचार किया जाए। लेकिन सूत्रों की मानें तो पीएम मोदी पूरे बैठक के दौरान इस बात को दोहरा रहे थे कि छात्रों की जिंदगी देश के अमूल्य है ऐसे में परीक्षा केंद्रों पर उनको भेजना इस तरह के बढ़ते कोरोना प्रसार के बीच यह बेहतर नहीं होगा। ऐसे में 10वीं की परीक्षा रद्द की जाए और 12वीं की परीक्षा को टालकर दोनों के पक्ष में कैसे अंक देने और आगे परीक्षा आयोजित की जाएगी इस पर विचार किया जाए।

Pariksha Pe charcha modi pic

जब पीएम मोदी बोले- 10 वीं की परीक्षा टालना नहीं रद्द करना ज्यादा उचित

देश में कोरोना के बढ़ते खतरे के बीच सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाओं को लेकर बुधवार को बुलाई उच्चस्तरीय बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक संजीदा अभिभावक की भूमिका में दिखे। उन्होंने बैठक में कोविड 19 के खतरे के बीच बच्चों की सेहत से जुड़ी चिंताओं की खास चर्चा की। उच्चस्तरीय सूत्रों के मुताबिक, बैठक में पहले हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं को सिर्फ टालने का प्रस्ताव अफसरों की तरफ से आया था। अफसरों ने कहा कि माहौल सामान्य होने पर आगे परीक्षाएं करवाई जा सकती हैं, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्पष्ट कहा कि बच्चों के लिए किसी तरह का खतरा मोल नहीं ले सकते। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हाईस्कूल के बच्चों की उम्र कम होती है, ऐसे में उनकी परीक्षा स्थगित नहीं बल्कि रद्द करनी जरूरी है। वहीं प्रधानमंत्री ने 12 वीं की परीक्षा को स्थगित करने पर मंजूरी दी। बैठक में कहा गया कि 12 वीं के बाद विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा के लिए दूसरे कॉलेज में जाना पड़ता है, ऐसे में उनकी परीक्षाएं आगे कराई जा सकती हैं। बैठक में शामिल उच्चस्तरीय सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी के हस्तक्षेप के बाद हाईस्कूल की परीक्षा रद्द हुई।

CBSE Exam

सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 12 वीं की परीक्षा आगे जब भी कराई जाएं, तब विद्यार्थियों को समय से पहले जानकारी दी जाए। कोरोना काल में परेशान बच्चों और अभिभावकों की शिक्षा मंत्रालय व स्कूल हरसंभव मदद करें। देश के होनहारों को इस माहौल में निराशा नहीं बल्कि आशा की ओर ले जाना चाहिए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उच्चस्तरीय बैठक खत्म होने के बाद शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने निर्णयों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि चार मई से 14 जून के बीच होने वाली सीबीएसई की 10 वीं की परीक्षा को रद्द कर दिया गया है। बोर्ड की ओर से उचित पैमाना बनाकर दसवीं का रिजल्ट जारी होगा। नंबर से असंतुष्ट अभ्यर्थी इसके खिलाफ अपील करेंगे तो उन्हें आगे परीक्षा का मौका मिल सकता है।

शिक्षा मंत्री ने बताया कि चार मई से 14 जून के बीच होने वाली 12 वीं की परीक्षा को फिलहाल स्थगित करने का निर्णय लिया गया है। एक जून को हालात की समीक्षा करने के बाद 12 वीं की परीक्षा कराने पर विचार होगा। हालांकि, परीक्षार्थियों को परीक्षा से 15 दिन पहले सूचना दी जाएगी।

Support Newsroompost
Support Newsroompost