सेना के कंधे से कंधा मिलाकर LAC पर खड़े हो गए प्रधानसेवक, अब होगा चीन का हौसला पस्त

चीन से तनातनी के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अचानक लेह पहुंचे हैं। पीएम मोदी यह जवानों से मुलाकात कर रहे है साथ ही उनका हौसला बढ़ा रहे है।

Written by: July 3, 2020 10:17 am

नई दिल्ली। चीन से तनातनी के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अचानक लेह पहुंचे हैं। पीएम मोदी यह जवानों से मुलाकात कर रहे है साथ ही उनका हौसला बढ़ा रहे है। खबरों के मुताबिक पीएम मोदी गलवान घाटी में हुए हिंसक झड़प में घायल जवानों से भी मिल सकते हैं। पीएम मोदी के इस दौरे की तस्वीरें अब सामने आने आई हैं। पीएम मोदी का यह दौरा चीन को संदेश भी है कि देश फौज के साथ खड़ा है।

पीएम मोदी के साथ चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) बिपिन रावत भी मौजूद हैं। पीएम मोदी सुबह 7 पहुंचे लेह पहुंचे और फिर हेलीकॉप्टर से निमू अग्रिम पोस्ट पर जवानों से मुलाकात कर रहे हैं।

PM Narendra Modi

गौरतलब है कि 15 जून को गलवान घाटी में हुई एक हिंसक झड़प में भारत के 20 सैनिकों के शहीद होने के बाद यह तनाव काफी बढ़ गया है। हालांकि इस झड़प में चीनी सैनिक भी हताहत हुए, लेकिन अभी तक चीन ने इस बारे में ब्योरा नहीं दिया है।

इससे पहले खबर थी कि शुक्रवार को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह सीडीएस बिपिन रावत के साथ लेह जाएंगे और 14 कॉर्प्स के अधिकारियों से मुलाकात करेंगे। लेकिन गुरुवार को अचानक खबर आई कि राजनाथ सिंह का दौरा स्थगित कर दिया गया है।

पीएम मोदी का चीन को कड़ा संदेश

इससे पहले भारतीय जवानों की शहादत पर प्रधानमंत्री मोदी ने चीन को कड़ा संदेश देते हुए कहा कि जिन जवानों की शहादत हुई है, वो व्यर्थ नहीं जाएगी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “हमारे दिवंगत शहीद वीर जवानों के विषय में देश को इस बात का गर्व होगा कि वे मारते-मारते मरे हैं। भारत शांति चाहता है, लेकिन भारत उकसाने पर हर हाल में यथोचित जवाब देने में सक्षम है।”

PM Narendra Modi

पीएम मोदी ने कहा कि, मैं देश को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि हमारे जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। हमारे लिए भारत की अखंडता और संप्रभुता सर्वोच्च है और इसकी रक्षा करने से हमें कोई भी रोक नहीं सकता। भारत शांति चाहता है लेकिन भारत उकसाने पर हर हाल में यथोचित जवाब देने में सक्षम है।