Punjab: अकाली दल पर फूटा सिद्धू का गुस्सा, किसान आंदोलन को लेकर बादल परिवार पर लगाया बड़ा आरोप

Punjab Cong: कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि बादल सरकार द्वारा जो एक्ट विधानसभा में लाया गया था उसमें MSP का ज़िक्र ही नहीं किया गया था। सिद्धू बोले कि किसानों के पास कोर्ट जाने का अधिकार नहीं था, जमीन को लेकर भी दिक्कतें थीं।

Written by: September 15, 2021 4:20 pm
SIDDHU

नई दिल्ली। कृषि कानूनों के खिलाफ लेकर दिल्ली के बॉर्डर पर धरना दे रहे किसानों का प्रदर्शन है। इन कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर धरने पर बैठे किसान जहां एक ओर अपनी जिद पर अड़िग हैं, तो दूसरी ओर  सरकार भी इस प्रदर्शन को खत्म करवाने के हर पैंतरा अज़मा चुकी है। पर केंद्र सरकार भी किसी भी कीमत पर इन कानूनों को रद्द करने के लिए राजी नहीं है। वहीं  विपक्ष ने भी अब इसे राजनीति का मुद्दा बना लिया है। विपक्षी दल भी अब इस मामले में केंद्र सरकार को घेरने का एक मौका हाथ से नहीं जाने देते हैं। हालांकि बीते दिन कांग्रेस के विधायक ने इस प्रदर्शन को स्पांसर करने की बात कही थी। वहीं अब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया है।

Navjot Singh Siddhu

दरअसल पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया. जहां वह कृषि कानून को लेकर बादल सरकार को घेरते हुए दिखाई दिए। इस दौरान नवजोत सिंह सिद्धू ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों की नींव अकाली दल के बादल परिवार ने रखी थी। पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले नवजोत सिंह सिद्धू ने मोर्चा संभाल लिया गया है नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि अकाली दल ही केंद्र के पास कृषि कानून का प्रस्ताव लेकर गई, पहले इन्हें पंजाब में लागू किया गया और बाद में केंद्र में इसे लागू किया गया। पंजाब में साल 2013 में विधानसभा में ऐसा एक्ट लाया गया, ये एक्ट प्रकाश सिंह बादल ने पेश किया था।

navjot singh siddhu

इसके साथ ही कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि बादल सरकार द्वारा जो एक्ट विधानसभा में लाया गया था उसमें MSP का ज़िक्र ही नहीं किया गया था। सिद्धू बोले कि किसानों के पास कोर्ट जाने का अधिकार नहीं था, जमीन को लेकर भी दिक्कतें थीं। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि बादल सरकार द्वारा जो एक्ट पंजाब में पेश किया गया था, उसे ही हूबहू केंद्र में लागू कर दिया गया है। जब ये कानून लागू हुआ तब अकाली दल एनडीए का ही हिस्सा था।

नवजोत सिंह सिद्धू के आरोपों का यह सिलसिला यहीं नहीं थमा उन्होंने यह भी कहा कि कृषि कानूनों के जरिए किसानों को गुलाम बनाने की कोशिश की गई है। इसके साथ ही नवजोत सिंह सिद्धू ने दावा किया कि पंजाब में लागू हुए कानून को देश में लागू कर दिया गया।

बता  दें कि कांग्रेस ने इस बार नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बना दिया है। नवजोत सिंह सिद्धू और कैप्टन अमरिंदर सिंह के गुट में शुरुआत से लगातार तकरार जारी रही है। लेकिन हाल ही में केंद्रीय आलाकमान की नसीहतों के बाद नवजोत सिंह सिद्धू एक बार र अपने मिशन में जुटे हुए हैं। गौरतलब है कि अगले साल पंजाब में भी विधानसभा चुनाव आयोजित किए जाएंगे। ऐसे में माना जा रहा है कि कांग्रेस के सामने आम आदमी पार्टी चुनौती खड़ी कर रही है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost