Connect with us

देश

Rahul Gandhi : गौतम अडानी पर हमलावर रहे राहुल गांधी, लेकिन गहलोत कर रहे अडानी की तारीफ, जानिए पूरी कहानी

जयपुर : एक तरफ कांग्रेस के दिग्गज नेता और राजस्थान के सीएम गहलोत अडानी की तारीफ करते हुए दिखाई दिए तो वहीं, राहुल अडानी और अंबानी के जरिए मोदी सरकार को घेरते रहे हैं। राहुल खुलकर आरोप लगाते रहे हैं कि केंद्र सरकार कुछ बिजनेसमैन के लिए ही काम करती है, जबकि आम और गरीब लोगों की चिंता नहीं करती।

Published

on

जयपुर : राजस्थान की राजनीति में लगातार एक के बाद एक घटनाक्रम बदल रहे हैं। इसी बीच आज राजस्थान से ऐसी तस्वीरें सामने आईं हैं जिन्हें देखकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को शायद बिल्कुल अच्छा नहीं लगेगा। दरअसल, जिन उद्योगपति गौतम अडानी पर राहुल पिछले कई सालों से हमलावर रहे हैं, वे ही आज राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बगल में बैठे नजर आए। इतना ही नहीं, गहलोत ने खुले मंच से गौतम अडानी की जमकर तारीफ भी की।

‘इन्वेस्ट राजस्थान 2022’ में गहलोत ने अडानी को भाई कहते हुए संबोधित किया और कहा, ”गौतम भाई गुजरात की बात कर रहे थे। गुजराती हमेशा से बहुत सक्षम रहे हैं, यहां तक कि आजादी से पहले भी। महाराष्ट्र-गुजरात हमेशा आर्थिक रूप से समृद्ध रहा है। आपका राज्य अच्छी स्थिति में था, अब हम सुनते हैं कि गौतम अडानी दुनिया के शीर्ष 2 सबसे अमीर लोगों में शामिल हैं।”

इससे पहले भी अडानी-अंबानी पर हमलावर रहे हैं राहुल गांधी

ये पहली बार नहीं है जब राहुल गांधी ने अडानी अम्बानी पर निशाना साधा हो। बल्कि पहले भी कई बार वो दोनों उद्योगपतियों पर हमलावर रहे हैं। इस बार भी जहां एक तरफ कांग्रेस के दिग्गज नेता और राजस्थान के सीएम गहलोत अडानी की तारीफ करते हुए दिखाई दिए तो वहीं, राहुल अडानी और अंबानी के जरिए मोदी सरकार को घेरते रहे हैं। राहुल खुलकर आरोप लगाते रहे हैं कि केंद्र सरकार कुछ बिजनेसमैन के लिए ही काम करती है, जबकि आम और गरीब लोगों की चिंता नहीं करती।

गौरतलब है कि हाल ही में भारत जोड़ो यात्रा के दौरान भी राहुल गांधी ने कहा था कि दुनिया का दूसरा सबसे अमीर शख्स (अडानी) भारत से है। यह अचानक कैसे हुआ ? यह कैसे हो सकता है कि दुनिया का दूसरा सबसे अमीर आदमी एक भारतीय है और देश में सबसे ज्यादा बेरोजगारी दर फैली हुई है? वह देश में किसी भी व्यवसाय का एकाधिकार कर सकते हैं, कोई भी हवाई अड्डा और बंदरगाह खरीद सकते हैं। इन व्यवसायों के लिए उन्हें पैसे कौन देता है? यह सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों से आता है, यह आपका पैसा है। इससे पहले भी कई बार राहुल गांधी सरकार पर उद्योपतियों के लिए काम करने का आरोप लगाते रहे हैं।

 

Advertisement
Advertisement
Advertisement