पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन की झूठी खबर को लेकर वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने मांगी माफी

गुरुवार को दिल्ली के आर्मी रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल ने प्रणब मुखर्जी के सेहत को लेकर बताया कि, “पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत में आज सुबह कोई बदलाव नहीं आया। वो अभी भी वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं।”

Avatar Written by: August 13, 2020 10:43 am

नई दिल्ली। गुरुवार को पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन को लेकर ट्विटर पर अफवाहें चलीं तो लोग अपनी भावनाएं व्यक्त करने लगे। पूर्व राष्ट्र्पति को लेकर सोशल मीडिया पर श्रद्धांजलि भरे संदेश आने लगे। लेकिन थोड़ी देर बाद ही प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी ने इस खबर का खंडन किया और कहा कि मेरे पिता अभी जिंदा हैं।

Former president-pranab-mukherjee

अपने ट्वीट में अभिजीत ने मीडिया पर भी निशाना साधते हुए कहा कि ‘भारत में मीडिया फेक न्यूज की फैक्ट्री बन गई है।’ सोशल मीडिया पर जब फेक खबर को लेकर लोग अपनी प्रतिक्रिया देने लगे तो वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने एक ट्वीट के जरिए प्रणब मुखर्जी के निधन झूठी खबर ट्वीट करने को लेकर माफी मांगी। उन्होंने कहा कि, मुझे एक बार कन्फर्म करना चाहिए था।

abhijit mukherjee

दरअसल राजदीप ने प्रणब मुखर्जी के निधन की खबर को लेकर ट्वीट किया था। यह इसलिए भी हुआ कि, सबसे तेज खबरों को ब्रेक करने के चक्कर में वो सोर्स द्वारा दी गई जानकारी को रिचेक करना भूल गए। बाद में जब प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी ने सच बताया तो उन्होंने एक ट्वीट करके माफी मांगी।

Rajdeep sardesai

राजदीप सरदेसाई ने अपने ट्वीट में कहा कि, प्रणब मुखर्जी के निधन की झूठी खबर फैलाने के लिए मैं दिल से माफी मांगता हूं। मैं खुद इस खबर को फैलाने के लिए चिंतित हूं। यह एक तरीके से पेशेवर नहीं है, मुझे इसे ट्वीट करने से पहले फिर से इस खबर की पुष्टि कर लेनी थी। सभी से मैं माफी मांगता हूं।

Rajddeep tweet pranab

राजदीप के इस ट्वीट पर देखिए किस तरह के रिप्लाई आए…

बता दें कि 10 अगस्त को आर्मी रिसर्च एंड रेफरल(R&R) अस्पताल में प्रणब मुखर्जी की ब्रेन क्लॉट की सर्जरी हुई ​थी। डॉक्टरों की टीम उनकी सेहत पर गंभीर नजर बनाए हुए हैं। इसके अलावा गुरुवार को दिल्ली के आर्मी रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल ने प्रणब मुखर्जी के सेहत को लेकर बताया कि, “पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत में आज सुबह कोई बदलाव नहीं आया। वो अभी भी वेंटिलेटर सपोर्ट पर हैं।”

इससे पहले मंगलवार को सेना के रिसर्च एंड रेफरल (आर एंड आर) अस्पताल ने बताया कि पूर्व राष्ट्रपति की हालत नाजुक बनी हुई है और उन्हें जीवनरक्षक प्रणाली पर रखा गया है। इससे एक दिन पहले उनके मस्तिष्क की सर्जरी की गई थी। मुखर्जी (84) को सोमवार की दोपहर के वक्त सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया था और सर्जरी से पहले उनमें कोविड-19 की भी पुष्टि हुई थी।