UP: अयोध्या में सरयू नदी पर बहुत जल्द शुरू होगी ‘रामायण क्रूज सेवा’, मिलेंगी ये सुविधाएं

Ramayan Cruise Service: क्योंकि सेल्फी कल्चर का जमाना है ऐसे में इस क्रूज(Cruise ) में सेल्फी के लिए रामायण(Ramayan) थीम पर कई सेल्फी प्वाइंट भी बनाए जाएंगे। क्रूज यात्रा करने वाले हर यात्री को सरयू(Saryu ) नदी के तट पर होने वाली आरती में हिस्सा लेने का मौका भी मिलेगा।

Avatar Written by: December 1, 2020 8:30 pm
cruise Ayodhya Ram

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में योगी सरकार आने के बाद से अयोध्या की तस्वीर बदलती नजर आ रही है। जहां अयोध्या में राम मंदिर बनने का मार्ग भी अब साफ हो चुका है और निर्माण कार्य भी प्रारंभ हो चुका है। वहीं अयोध्या के विकास को लेकर प्रदेश की योगी सरकार कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रही है। बता दें कि अब अयोध्या में बहने वाली सरयू नदी पर पोर्ट्स, शिपिंग और वॉटरवेज मिनिस्ट्री जल्द ही रामायण क्रूज सेवा (Ramayana Cruise Service) शुरू करने जा रही है। इस योजना को धरातल पर लाने और इसे अमलीजामा पहनाने के लिए केंद्रीय मंत्री मनसुख मंडाविया (Mansukh L. Mandaviya) ने मंत्रालय में एक मैराथन बैठक की। इस शुरुआत के बाद राष्ट्रीय वाटरवेज संख्या-40 यानी सरयू नदी पर बहुत जल्द लग्जरी क्रूज सेवा की शुरूआत होगी। इसकी शुरुआत से यहां आने वाले पर्यटक लग्जरी क्रूज के जरिए सरयू नदी की सैर कर पाएंगे।

Ayodhya Dipotsav Light

वहीं इस क्रूज की विशेषताओं की बात करें तो इस आलीशान क्रूज में कुल 80 सीटे होंगी और क्रूज की एंट्री का इंटीरियर रामचरित मानस की थीम पर होगा। इसके अलावा इसमें देखिए क्या खास होगा…

  • विश्व स्तर के मापदंडों को ध्यान में रखते हुए इस क्रूज में सभी जरूरी सेफ्टी और सिक्‍योरिटी फीचर्स (Security Features) शामिल होंगे
  • चलते क्रूज से भी घाटों का दीदार हो सके इसके लिए क्रूज में लंबी और बड़ी शीशों की खिड़कियां होंगी
  • यात्रियों को लजीज खाने-पीने की चीजें भी परोसने का इंतजाम क्रूज में किया जाएगा
  • क्रूज में किचन और पैंट्री सुविधाएं भी होंगी
  • क्रूज में बायो टॉयलेट्स और हाइब्रिड इंजन सिस्टम लगा होगा, जिससे पर्यावरण को नुकसान नहीं होगा।

क्रूज की शुरुआत होने पर यात्रियों को इसमें रामचरित मानस टूर मिलेगा जोकि 1 से 1.5 घंटे का होगा। इस क्रूज में यात्रा के दौरान लोगों को 45-60 मिनट की फिल्म भी दिखाई जाएगी। यह फिल्म भगवान राम से जुड़ी होगी। जिसमें जन्म से राज्याभिषेक तक के जीवन को दिखाया जाएगा। एक बार में यात्रियों को कुल 15 से 16 किमी तक क्रूज से सफर कराया जाएगा।

cruise Ayodhya

क्योंकि सेल्फी कल्चर का जमाना है ऐसे में इस क्रूज में सेल्फी के लिए रामायण थीम पर कई सेल्फी प्वाइंट भी बनाए जाएंगे। क्रूज यात्रा करने वाले हर यात्री को सरयू नदी के तट पर होने वाली आरती में हिस्सा लेने का मौका भी मिलेगा। यूपी पर्यटन विभाग के मुताबिक, सलाना करीब 2 करोड़ श्रद्धालु अयोध्या पहुंचते हैं। वहीं योध्या में राम मंदिर बन जाने के बाद और अधिक लोग यहां पहुंचेंगे।

क्रूज के संचालन से बड़े स्तर पर युवाओं को रोजगार भी मिलेगा। यही नहीं, उत्तर प्रदेश को इससे बड़े पैमाने पर राजस्व भी मिलेगा होगी। इस क्रूज सेवा के लिए केंद्रीय पोर्ट्स, शिपिंग और वॉटरवेज मंत्रालय सभी जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चरल सहयोग करेगा। हालांकि, अभी यह तय नहीं किया गया है कि इसके लिए कितना किराया होगा और एक दिन में यह क्रूज कितने फेरे लगाएगा।