International Yoga Day 2021: योग को मजहबी रंग देने वाले कांग्रेसी नेता पर बाबा रामदेव का पलटवार, ऐसे दिया मुहंतोड़ जवाब

International Yoga Day 2021: बाबा रामदेव ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि, योग कोई मजहबी प्रक्रिया नहीं है। यह हमारे पूर्वजों की एक साझी विरासत है। योग, आयुर्वेद और अपनी सनातन ज्ञान परंपरा को हम गौरव से आत्मसात करें। योग पर कोई विवाद नहीं है। निष्पक्ष होकर योग के महत्व को मानें। आज पूरी दुनिया योग कर रही है।

Written by: June 21, 2021 11:57 am
Ramdev And Abhishek

नई दिल्ली। कोरोना संकट के बीच दुनिया भर में आज 7वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day) मनाया जा रहा है। योग दिवस के मौके पर देश के अलग-अलग हिस्सों में योग कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है। लेकिन इस बीच कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी राजनीति करने से बाज नहीं आए और उन्होंने विवादित ट्वीट कर डाला। इतना ही नहीं सिंघवी ने इसे मजहबी रंग देने की भी कोशिश की। दरअसल योग दिवस के अवसर पर कांग्रेस के दिग्गज नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने सोमवार को ट्वीट करते हुए लिखा, ॐ के उच्चारण से ना तो योग ज्यादा शक्तिशाली हो जाएगा और ना अल्लाह कहने से योग की शक्ति कम होगी।

वहीं अब कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी के बयान पर योग गुरु बाबा रामदेव ने पलटवार किया है। रामदेव ने एक चैनल से बात करते हुए कांग्रेस नेता के ट्वीट पर जवाब देते हुए कहा,  ईश्वर -अल्लाह तेरे नाम, सबको सन्मति दे भगवान. खुदा, अल्लाह, भगवान ,परमात्मा सब एक हैं। ऐसे में किसी को ॐ बोलने से क्या दिक्कत है और हम किसी को खुदा बोलने से मना नहीं कर रहे हैं।

बाबा रामदेव ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि, योग कोई मजहबी प्रक्रिया नहीं है। यह हमारे पूर्वजों की एक साझी विरासत है। योग, आयुर्वेद और अपनी सनातन ज्ञान परंपरा को हम गौरव से आत्मसात करें। योग पर कोई विवाद नहीं है। निष्पक्ष होकर योग के महत्व को मानें। आज पूरी दुनिया योग कर रही है।

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर योगगुरू रामदेव ने कहा कि, योग हमारी दिनचर्या का हिस्सा बनेगा। योग से सुरक्षा कवच तैयार हो जाता है। एक तरफ वैक्सीनेशन की दो डोज़ और दूसरी तरफ योग आयुर्वेद की डबल डोज़। जब चारो तरफ से आप अपने आपको मजबूत बना लेंगे तो इस सुरक्षा कवच को कोई बेध नहीं पाएगा।

 

Support Newsroompost
Support Newsroompost