Corona Vaccine: कोरोना के कहर के बीच राहत भरी खबर!, अगले हफ्ते बाजार में आएगी रूस की कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक

Corona Vaccine: डॉ. वीके पॉल ने कहा कि हम रूस से आई हुई तय मात्रा में स्‍पूतनिक वैक्‍सीन की बिक्री के अगले हफ्ते से शुरू होने की आशा करते हैं। उन्‍होंने कहा कि आगे भी सप्‍लाई को लेकर प्रयास जारी रहेंगे। स्‍पूतनिक वैक्‍सीन का उत्‍पादन जुलाई से शुरू होगा। ऐसा आकलन है कि उस समय वैक्‍सीन की 15.6 करोड़ डोज बनाई जाएंगी।

Avatar Written by: May 13, 2021 5:37 pm

नई दिल्ली। देश में कोरोनावायरस की दूसरी लहर ने कोहराम मचा रखा है। इस सब के बीच तेजी से देश में चीकाकरण भी जारी है। दुनिया के सभी देशों से ज्यादा टीकाकरण अभी तक भारत में हो चुका है। लेकिन फिर भी इतनी बड़ी आबादी को टीका लगाने के लिए सरकार की तरफ से अन्य कोशिशों पर भी विचार किया जा रहा है। देश में फिलहाल दो टीके लोगों के लिए उपलब्ध हैं अब सरकार रूस की वैक्सीन स्पूतनिक-वी को भी देश को लोगों को देने का विचार कर चुकी है। सरकार इसके अलावा कई और विदेशी टीकों को भी देश में लाने पर विचार कर रही है। इसको लेकर सरकार ने फैसला लिया है और अब विदेश से भी कोरोना वैक्‍सीन मंगाई जा रही है। इस बीच नीति आयोग ने गुरुवार को जानकारी दी है कि रूस की कोरोना वैक्‍सीन स्‍पूतनिक भारत आ रही है। नीति आयोग के सदस्‍य डॉ. वीके पॉल ने कहा, ‘मुझे यह कहने में खुशी हो रही है कि हम आशांवित हैं कि अगले हफ्ते से यह बाजार में उपलब्‍ध होगी।’

डॉ. वीके पॉल ने कहा कि हम रूस से आई हुई तय मात्रा में स्‍पूतनिक वैक्‍सीन की बिक्री के अगले हफ्ते से शुरू होने की आशा करते हैं। उन्‍होंने कहा कि आगे भी सप्‍लाई को लेकर प्रयास जारी रहेंगे। स्‍पूतनिक वैक्‍सीन का उत्‍पादन जुलाई से शुरू होगा। ऐसा आकलन है कि उस समय वैक्‍सीन की 15.6 करोड़ डोज बनाई जाएंगी। टीकाकरण पर बड़ा अपडेट देते हुए डॉ. पॉल ने कहा कि कुल मिलाकर भारत में भारतीयों के लिए अगस्त-दिसंबर के बीच टीकों की 216 करोड़ खुराकें निर्मित होंगी।

उन्होंने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं होना चाहिए कि जैसे ही हम आगे बढ़ते हैं वैक्सीन सभी के लिए उपलब्ध होगी। एफडीए, डब्ल्यूएचओ द्वारा अप्रूव कोई भी टीका भारत आ सकता है। आयात लाइसेंस 1-2 दिनों के भीतर दिया जाएगा। कोई आयात लाइसेंस लंबित नहीं है।

स्वास्थ्य मंत्रालय से मिली मंजूरी, 12 से 16 हफ्ते पर कोविशील्ड की लगेगी दूसरी डोज

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोविशील्ड वैक्सीन के दूसरे डोज के लिए समय अंतराल 12 से 16 हफ्ते रखने के कोविड वर्किंग ग्रुप की सलाह को स्वीकार लिया है। ऐसे में जिन लोगों ने कोविशील्ड वैक्सीन की पहली खुराक ली है, अब ये 12 से 16 हफ्ते के अंतराल पर वैक्सीन की दूसरी डोज ले सकेंगे। इससे पहले इसको लेकर सरकारी पैनल NTAGI ने सुझाव दिया है कि पहला टीका लगवाने के बाद दूसरा टीका 3-4 महीने के अंदर लगवा सकते हैं। जी हां, अगर आपने सीरम इंस्टिट्यूट (SII) की कोरोना वैक्सीन का पहला टीका लगवा लिया है और दूसरी डोज का इंतजार कर रहे हैं तो आपको इसके लिए थोड़ा और इंतजार करना पड़ सकता है।

कोविशील्ड वैक्सीन की दूसरी डोज लगाने की समयसीमा को लेकर आया NTAGI का प्रस्ताव, जानिए क्या हुआ तय?

सरकारी पैनल NTAGI ने सुझाव दिया है कि पहला टीका लगवाने के बाद दूसरा टीका 3-4 महीने के अंदर लगवा सकते हैं। जी हां, अगर आपने सीरम इंस्टिट्यूट (SII) की कोरोना वैक्सीन का पहला टीका लगवा लिया है और दूसरी डोज का इंतजार कर रहे हैं तो आपको इसके लिए थोड़ा और इंतजार करना पड़ सकता है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सरकारी पैनल NTAGI ने Covishield की पहली डोज के बाद दूसरी डोज लगाने के लिए अवधि को 12-16 हफ्ते का प्रस्ताव दिया है।

covishield

अभी तक Covishield की पहली डोज का टीका लेने के बाद दूसरी डोज को 6-8 हफ्ते में लगाना जरूरी बताया गया है। लेकिन अब इसे बढ़ाकर 12-16 हफ्ते करने का प्रस्ताव है, अगर इस प्रस्ताव को माना जाता है तो Covishield की पहली डोज लगवा चुके लोगों को दूसरी डोज के लिए थोड़ा इंतजार करना पड़ सकता है। हालांकि भारत बायोटेक की वैक्सीन Covaxin के लिए अवधि में कोई बदलाव नहीं है और उसके लिए पहली डोज लगने के बाद दूसरी डोज 4-6 हफ्ते के बीच लगाना जरूरी है।

इससे पहले Covishield की पहली डोज का टीका लेने के बाद दूसरी डोज को 6-8 हफ्ते में लगाना जरूरी बताया गया है। लेकिन अब इसे बढ़ाकर 12-16 हफ्ते करने का प्रस्ताव है, अगर इस प्रस्ताव को माना जाता है तो Covishield की पहली डोज लगवा चुके लोगों को दूसरी डोज के लिए थोड़ा इंतजार करना पड़ सकता है।

Covaxin

हालांकि भारत बायोटेक की वैक्सीन Covaxin के लिए अवधि में कोई बदलाव नहीं है और उसके लिए पहली डोज लगने के बाद दूसरी डोज 4-6 हफ्ते के बीच लगाना जरूरी है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost